• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bhilwara
  • The Only Such Shaktipeeth In Bohri Mata District Which Is Built On The Island Between The Kothari Dam, First Kalika And Now In The Form Of Lakshmi, Mata Is Worshiped.

आज से नवरात्र:बोहरी माता जिले का इकलौता ऐसा शक्तिपीठ जो कोठारी बांध के बीच टापू पर बना है, पहले कालिका और अब लक्ष्मी स्वरुप में होती है माता की पूजा

भीलवाड़ा/बीगोद11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में बाेहरी माता का धाम बांध के बीच टापू नुमा विशाल चट्टान पर बना है। लाडपुरा- भीलवाड़ा हाईवे पर साेपुरा के पास काेठारी बांध में करीब 500 वर्ष प्राचीन स्थान पर कालिका माता के रूप में देवी की स्थापना तत्कालीन ठाकुर परिवार ने कराई थी।

कहते हैं, जरूरत पर यहां से स्वर्ण मुद्राएं मिलने लगीं तब लक्ष्मी स्वरूप में पूजा जाने लगा। इसलिए बाेहरी माता कहलाईं। बाेहरा वे हाेते हैं जाे रुपए का लेन-देन करते हैं। गफेसरा के करणवीरसिंह ने बताया कि कालिका माता उनकी कुलदेवी हैं, जिनकी स्थापना पूर्वजाें ने करवाई।

खबरें और भी हैं...