पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मरीजाें को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा:सीएचसी काे दी एंबुलेंस एकबार भी नहीं आई, भामाशाह से मिली गाड़ी भी अटकी

बिजौलियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर साैंपी गई एंबुलेंस की सेवा एकदिन भी जरूरतमंदाें काे नहीं मिली। जबकि इस दाैरान कई राेगियाें काे निजी एंबुलेंस या अन्य वाहनाें से भीलवाड़ा, काेटा रैफर किया गया। इनमें काेविड संक्रमित भी थे।

राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर 21 मई काे पूर्व विधायक विवेक धाकड़ की अगुवाई में एंबुलेंस एनएचएआई की ओर से भेंट की गई थी। साथ ही एक अन्य भामाशाह ने अपना वाहन भी जरूरत पर एंबुलेंस के लिए दिया था। समाराेह में तहसीलदार शैतानसिंह यादव भी शामिल हुए थे।

तब कहा गया था कि काेराेना राेगियाें काे रैफर करने या घर से अस्पताल लाने-ले जाने के लिए यह एंबुलेंस निशुल्क उपलब्ध हाेगी। समाराेह के बाद दाेनाें वाहन सीएचसी काे नहीं मिले। अस्पताल प्रभारी व अन्य अधिकारी इस बारे में कुछ भी बताने से इनकार कर रहे हैं। इधर, अस्पताल में एक भी एंबुलेंस सही नहीं है। इससे मरीजाें को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

एंबुलेंस हाईवे ऑथाेरिटी ने हर तहसील मुख्यालय के सीएचसी के लिए उपलब्ध कराने की घाेषणा की थी। एंबुलेंस का अस्पताल में रहना जरूरी नहीं था। यह आराेली टाेल नाके पर 24 घंटे रहती है। अस्पताल से सूचना के 15 मिनट में पहुंच जाने की बात हुई थी। अस्पताल काे सेवाओं की जरूरत नहीं पड़ी हाेगी, इसलिए नहीं मंगवाई।
-विवेक धाकड़, पूर्व विधायक

खबरें और भी हैं...