पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बेरोजगारी की मारामारी:एक पद पर 13 दावेदार, योग्यता 10वीं पास लेकिन 90% आवेदन एमएससी, एमकॉम, बीएड वालों के

चित्ताैड़गढ़19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका के 232 पदों पर हो रही है भर्ती
  • वेतन 7000, 4775, 2700 रुपए, दाे अक्टूबर काे ग्राम सभा में चयन प्रक्रिया में लगेगी अंितम मुहर

महिला वर्ग में भी शिक्षित बेराेजगारी की मारामारी है। महिला एवं बाल विकास विभाग में कार्यकर्ता, सहायिका, आशा सहयोगिनी पदाें के लिए जिले में केवल 232 पदाें के लिए अब तक 2995 अभ्यर्थी आवेदन कर चुके हैं। इन पदाें के लिए न्यूतनम शैक्षणिक याेग्यता दसवीं पास मांगी, लेकिन अब तक आए आवेदनाें में 90 प्रतिशत बीए, बीएड, एमएससी, एमकाॅम सहित उच्च शिक्षित हैं। इसलिए इस बार केवल दसवीं पास महिला अभ्यर्थियाें काे यह नाैकरी मिलना मुश्किल हाेगा। हालांकि मेरिट सूची में अंतिम मुहर संबंधित ग्राम पंचायत की ग्राम सभा में ही लगेंगी।

जानिए किस पद के लिए कितनी वैंकेंसी, 24 तक बनेंगी मेरिट, चित्ताैड़ ब्लाॅक में सबसे अधिक आवेदन...जिले में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के 64, सहायिका के 103, आशा सहयाेगी के 65 पदाें के लिए वैंकेंसी निकली हैं। अब महिला एवं बाल विकास विभाग काे राशमी एवं भैंसराेड़गढ़ काे छाेड़ सभी ब्लाकाें में इन पदाें के लिए आवेदन की संख्या प्राप्त हाे चुकी हैं। विभाग द्वारा 24 व 25 सितंबर तक मेरिट सूची बनाई जाएगी। इसके बाद संबंधित ग्राम पंचायताें काे मेरिट सूची भेजी जाएगी। दाे अक्टूबर काे ग्राम सभा में भी अंतिम चयन सूची जारी हाेगी। चित्ताैड़ के ग्रामीण में 340 व शहरी में 376 यानी अकेले चित्ताैड़ ब्लाक में 716 आवेदन प्राप्त हुए है। यह जिले में सबसे अधिक है। दूसरे नंबर बड़ीसादड़ी ब्लाक में 468 आवेदन प्राप्त हुए है। इसी प्रकार निंबाहेड़ा में 364, बेगूं में 379, डूंगला में 235, गंगरार में 178, भूपालसागर में 430, भदेसर में 175 व कपासन में 75 आवेदन प्राप्त हाेने की जानकारी विभाग काे मिली है।

इस बारे में महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक राजकुमारी पाेरवाल ने कहा जिले में 232 पदाें के लिए भर्ती निकाली। अभी दाे ब्लाॅक की रिपाेर्ट बाकी है। अब तक 2995 आवेदन आए हैं। आंगनबाड़ी सहयाेगिनी, सहायिका व कार्यकर्ता भर्ती में इस बार बड़ी संख्या में उच्च याेग्यताधारी महिलाओं ने आवेदन किए हैं। आवेदनाें की जांच के आधार पर नियमानुसार महिलाओं के चयन की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। बाेनस अंक जुड़ने से उच्च याेग्यता वाली महिलाओं का वरीयता सूची में चयन ज्यादा हाेने की संभावना है।

उच्च याेग्यताधारी महिलाओं का वरीयता से होगा चयन, जानिए कैसे किस योग्यताधारी को कितने बाेनस अंक मिलेंगे
इस भर्ती में कार्यकर्ता पद पर चयन हाेने पर 7800 रुपए, सहयाेगिनी काे 4775 व सहायिका काे 2700 रुपए देने का प्रावधान है। भर्ती शर्ताें के अनुसार आवेदन की पात्रता 10वीं है। हालांकि चयन में 10वीं के बाद हाई याेग्यता के लिए प्रत्येक महिला काे अंकाें की मेरिट के साथ बाेनस अंक दिए जाएंगे। यानी 12वीं याेग्यता के लिए एक अंक, बीए के लिए दो अंक व एमए, एमकाॅम सहित अन्य हाई याेग्यताओं के लिए तीन बाेनस अंक निर्धारित किए गए हैं। पड़ताल में सामने आया कि शिक्षा के प्रति जागरूकता के साथ महिलाओं में शिक्षा का स्तर लगातार बढ़ रहा है, लेकिन रोजगार के अवसर नहीं मिलने और सरकारी क्षेत्र में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए महिलाएं कम मानदेय पर भी काम करने के लिए सहमत हैं। कोरोना संक्रमण ने सरकारी क्षेत्र में लोगों का रुझान और बढ़ा दिया। क्योंकि दो साल से निजी क्षेत्र काफी प्रभावित रहा। ऐसे में सरकारी क्षेत्र के लोगों के सामने परिवार की देखरेख और जरूरतों को पूरा करने की जैसी समस्याएं नहीं आई।

इस भर्ती में कार्यकर्ता पद पर चयन हाेने पर 7800 रुपए, सहयाेगिनी काे 4775 व सहायिका काे 2700 रुपए देने का प्रावधान है। भर्ती शर्ताें के अनुसार आवेदन की पात्रता 10वीं है। हालांकि चयन में 10वीं के बाद हाई याेग्यता के लिए प्रत्येक महिला काे अंकाें की मेरिट के साथ बाेनस अंक दिए जाएंगे। यानी 12वीं याेग्यता के लिए एक अंक, बीए के लिए दो अंक व एमए, एमकाॅम सहित अन्य हाई याेग्यताओं के लिए तीन बाेनस अंक निर्धारित किए गए हैं।

पड़ताल में सामने आया कि शिक्षा के प्रति जागरूकता के साथ महिलाओं में शिक्षा का स्तर लगातार बढ़ रहा है, लेकिन रोजगार के अवसर नहीं मिलने और सरकारी क्षेत्र में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए महिलाएं कम मानदेय पर भी काम करने के लिए सहमत हैं। कोरोना संक्रमण ने सरकारी क्षेत्र में लोगों का रुझान और बढ़ा दिया। क्योंकि दो साल से निजी क्षेत्र काफी प्रभावित रहा। ऐसे में सरकारी क्षेत्र के लोगों के सामने परिवार की देखरेख और जरूरतों को पूरा करने की जैसी समस्याएं नहीं आई।

खबरें और भी हैं...