मेधावी बेटियां:6 साल में 5917 बेटियां बनीं 3.61 करोड़ के इनाम की हकदार

चित्तौड़गढ़9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

महिला दिवस पर जिले की बेटियाें काे भी एक सलाम बनता है। केवल पढ़ने वाली बेटियों ही नहीं बल्कि मेधावी बेटियों की तादाद भी लगातार बढ़ रही है। सरकार की ओर से मेधावी बेटियाें काे सम्मानित करने के बीते छह साल के आंकड़ाें पर गाैर करें तो इसकी संख्या लगातार बढ़ रही हे। शिक्षा विभाग द्वारा हर साल तय मापदंड पर मेधावी बेटियाें काे गार्गी, बालिका प्राेत्साहन याेजना एवं इंदिरा प्रियदर्शनी अवार्ड दिए जाते हैं। गार्गी पुरस्कार में दसवीं की चयनित छात्रा को कक्षा 11एवं 12वीं में तीन-तीन हजार रुपए, बालिका प्राेत्साहन याेजना में कक्षा 12वीं में 75 प्रतिशत से अधिक अंक से उत्तीर्ण बेटियाें काे पांच-पांच हजार रुपए तथा इंदिरा प्रियदर्शनी पुरस्कार में विभिन्न कैटगरी में नंबर वन आठवीं की छात्रा काे 40, दसवीं की बेटी काे 75 हजार एवं 12वीं की छात्रा काे एक लाख रुपए एवं स्कूटी का प्रावधान है। गत छह सालाें में 2455 काे गार्गी, 2332 काे बालिका प्राेत्साहन एवं 130 बेटियाें काे इंदिरा प्रियदर्शनी पुरस्कार से नवाजा गया। इन पर सरकार ने तीन कराेड़ 61 लाख 40 हजार रुपए खर्च किए है। बात राशि नहीं है, महत्वपूर्ण यह कि कि इनमें भी बेटियाें के कदम लगातार बढ़ रहे है।

गार्गी, बालिका, इंदिरा प्रियदर्शनी पुरस्कार के लिए कैसे बढ़ रहे बेटियाें के कदम
सत्र गार्गी पुरस्कार बालिका प्राेत्साहन इंदिरा प्रियदर्शनी

2014-15 187 153 12
2015-16 301 175 15
2016-17 398 241 15
2017-18 452 397 23
2018-19 461 403 36
2019-20 656 963 29
फैक्ट फाइल: छह साल में बेटियों के पुरस्काराें पर इतनी राशि खर्च

एक कराेड़ 47 लाख 30 हजार रुपए का खर्च गार्गी पुरस्कार पर एक कराेड़ 16 लाख 60 हजार रुपए का खर्च बालिका प्राेत्साहन पर 97 लाख 50 हजार रुपए का खर्च इंदिरा प्रियदर्शनी पुरस्कार पर

इस साल जिले की 11 बेटियाें काे स्कूटी भी मिलेंगी
कालीबाई भील मेधावी छात्रा स्कूटी याेजना के तहत सामान्य वर्ग में आर्थिक पिछड़ा वर्ग (ईबीसी) की मेधावी छात्राओं काे स्कूटी वितरण की जाएगी। डीईओ माध्यमिक शांतिलाल सुथार ने बताया कि राबाउमावि बस्सी की प्रियांशी व्यास, हैप्पी पब्लिक स्कूल सांगरिया, बड़ीसादड़ी की चंदा मेनारिया व मीनाक्षी मेनारिया, एलबीएस प्रतापनगर की छात्रा तनिशा कृपलानी व तनुषा ताेतला, राउमावि बेगूं की डाेली पुराेहित, डिसेंट पब्लिक स्कूल चंदेरिया की आएशा शेख, राउमावि पहुंना की पूजा शर्मा, एमजीएम स्कूल कपासन की श्रुति काबरा व मानीस उपाध्याय, श्रीभुवनभानू जैन सूरीश्वरी की साक्षा गगरानी का चयन शैक्षिक सत्र 2018-19 के तहत हुआ है। जिन्हें इस साल स्कूटी प्रदान की जाएगी।

खबरें और भी हैं...