पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऑक्सीजन लेवल:फेफड़ों में 80 % संक्रमण, ऑक्सीजन लेवल 70 फिर भी 74 वर्षीय ने कोरोना को हराया

चित्तौड़गढ़13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
संक्रमण पर विजय पाने वाले बुजुर्ग को सीएचसी स्टाफ विदा करते हुए। - Dainik Bhaskar
संक्रमण पर विजय पाने वाले बुजुर्ग को सीएचसी स्टाफ विदा करते हुए।

फेफड़ों में 80 फीसदी संक्रमण फैलने के बाद ऑक्सीजन लेवल 70 पर आ गया। इसके बावजूद 74 वर्षीय अल्लानूर ने हिम्मत नहीं हारी। सकारात्मक सोच और सीएचसी स्टाफ की सेवा से बुजुर्ग ने कोरोना को मात दे दी। सीएचसी से डिस्चार्ज कर होम आइसोलेशन में भेज दिया।

25 मई को बुजुर्ग अल्लानूर पुत्र हुसैन को सांस लेने में तकलीफ होने पर परिजन सीएचसी लाए। ऑक्सीजन लेवल 70 से नीचे था। भर्ती कर ऑक्सीजन लगाई। सैंपल पॉजिटिव आया। 26 मई को सीटी स्केन के लिए बुजुर्ग अल्लानूर के बेटे बशीर मोहम्मद उन्हें उदयपुर लेकर गए। सीटी स्केन में स्कोर 20 आया। दूसरे दिन स्टाफ ने कहा कि स्थिति क्रिटिकल है, बचने की संभावना कम है।

दोनों बेटे पिता का अंतिम समय आता देख उनकी इच्छा अनुसार वहां से उन्हें वापस कपासन सीएचसी ले आए। यहां उन्हें भर्ती करवा दिया। स्टाफ ने इलाज शुरू कर दिया। डॉ. धीरज कुमावत ने जिला चिकित्सा अधिकारी डॉ. रामकेश गुर्जर से बुजुर्ग की गंभीर स्थिति से अवगत कराया। उन्हें बताया कि बुजुर्ग के फेफड़ों में संक्रमण 80% फैल चुका है। रेमडेसिविर इंजेक्शन की आवश्यकता है।

डॉ. गुर्जर ने 2 घंटे में 6 इंजेक्शन कपासन भिजवा दिए। बुजुर्ग का ट्रीटमेंट शुरू किया। तीन दिन तक स्टाफ ने इलाज जारी रखा। बुजुर्ग ने पाॅजिटिव साेच रखी। परिवार और स्टाफ ने उनका हौसला बढ़ाया। इसका नतीजा यह रहा कि तीसरे दिन ऑक्सीजन लेवल 95 आ गया। अगले तीन दिन ऑब्जर्वेशन में रखा। तबीयत में सुधार होने पर बुजुर्ग को डिस्चार्ज किया। सीएचसी प्रभारी डॉ. मोहित शर्मा व स्टाफ ने बुजुर्ग को होम आइसोलेशन में भेज दिया।

प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. शर्मा, डॉ. अनिल कुमार यादव, डॉ. कुमावत, मेलनर्स भूरालाल कुमावत, नारायणलाल मौर्य, अशोक त्रिपाठी, जयंत जोशी, नीलम रेगर, शारदा स्वर्णकार, सीमा चौधरी, राजकुमारी आमेटा, मुरली मनोहर सेन, गीता रेगर, मीना तूसावड़ा, मंजू सांखला, लीला अहीर, मोहन मीणा, ममता कुमारी भट्ट, जगदीश चाष्टा, अरशद आदि का सहयोग रहा।

खबरें और भी हैं...