पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bhilwara
  • Chittorgarh
  • 95 Lakh 9 Thousand 500 Rupees Were Counted On The Second Day Of Opening The Donation Box In Shrisanwalia Ji, The Total Amount Received Was More Than 5 Crore 48 Lakh Rupees, Counting Still Going On

सांवलिया सेठ को दो दिन में 5.50 करोड़ का चढ़ावा:दान की गिनती में अभी दो से तीन दिन और लगेंगे, पहले दिन तो गिनते-गिनते थक गए थे कर्मचारी, दूसरे दिन आधे ही मंदिर पहुंचे

चित्तौड़गढ़13 दिन पहले
श्रीसांवलिया जी में दूसरे दिन भी नोटों की गिनती जारी रही। दानपात्र से निकली 95 लाख रुपए से अधिक की राशि की गिनती कर ली गई।

प्रख्यात कृष्ण धाम श्रीसांवलिया जी मंदिर में सोमवार को अमावस्या पर भंडारे से श्रद्धालुओं के चढ़ावे की राशि की गिनती दूसरे दिन भी हुई। कर्मचारी कम थे, लेकिन भंडारे यानी दानपात्र से निकली 95 लाख रुपए से अधिक की राशि की गिनती कर ली गई। अब तक भंडारे से करीब साढ़े पांच करोड़ रुपए गिने जा चुके हैं। पूरे देश में भारी मान्यता वाले इस मंदिर में लाखों भक्त आते हैं और भारी मात्रा में चढ़ावा चढ़ाते हैं। इसमें न केवल कैश होता है, बल्कि सोने-चांदी के जेवर से लेकर सोने-चांदी के बर्तन, नारियल और अनगिनत तरह की सामग्री शामिल होती है।

मंदिर मंडल के कर्मचारियों का कहना है कि अभी भी गिनती में दो-तीन दिन और लग सकते हैं। मंदिर के चढ़ावे की गिनती के दूसरे दिन 95 लाख 9 हजार 500 रुपए की गिने गए हैं। इसे मिलाकर अब तक भंडारे से कुल 5 करोड़ 48 लाख 57 हजार 500 की राशि प्राप्त हो चुकी है। गिनती के कारण सोमवार को भी मंदिर में श्रद्धालुओं के दर्शन बन्द रखे गए।

राजभोग की आरती के बाद खोला था भंडारा
रविवार को कृष्ण चतुर्दशी पर राजभोग आरती के बाद भंडार खोला गया था। रविवार को पहले दिन भंडार से निकाले गए 4 करोड़ 53 लाख 48 हजार रुपए की गिनती हुई। शेष राशि और सिक्कों की गिनती बाकी थी, जिनकी गिनती सोमवार को की गई।

95 लाख 9 हजार 500 रुपए का चढ़ावा
95 लाख 9 हजार 500 रुपए का चढ़ावा

आज खुलेंगे भक्तों के लिए दर्शन
मंदिर मंडल के अनुसार इन दोनों दिन श्रद्धालुओं की भीड़ बहुत रहती है, लेकिन गिनती के कारण मंदिर के पट भक्तों के लिए बंद रखे गए। कृष्ण चतुर्दशी पर हर वर्ष मेला भरता है, लेकिन इस बार भी कोरोना के कारण मेले को स्थगित रखा गया। अब मंदिर के पट मंगलवार को खुलेंगे। श्रद्धालु भी दर्शन कर सकेंगे।

कर्मचारियों के कम होने से कम हुई गिनती
मंदिर में रविवार को नोटों की गिनती के समय कर्मचारी भी लगभग 120 थे, लेकिन सोमवार को घटकर 50-60 रह गए। इसलिए कम राशि की गिनती हो सकी। दूसरे दिन सिर्फ 95 लाख 9 हजार 500 रुपए की गिनती की गई। जबकि बाकी छोटे नोटों की गिनती करने में अब भी दो-तीन दिन लगेंगे। बताया जा रहा है कि करीब 1.5 करोड़ के नोट अब भी बाकी है। कार्यालय में नगद और मनीऑर्डर से 72 लाख 71 हजार 149 रुपए भेंट में आए।

सांवलिया जी को 1 किलो सोने के बिस्किट की भेंट:भंडारे में पहली बार 100 डॉलर के 125 नोट मिले, अब तक साढ़े 4 करोड़ रुपए से ज्यादा निकले

खबरें और भी हैं...