पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत भरी खबर:ढाई महीने बाद जिले में कोरोना के जीरो केस, अभी जिले में 122 एक्टिव मामले; 34 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे

चित्तौड़गढ़5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में अप्रैल महीने से ही कोरोना के केस बढ़ने लगे थे, जिससे कई लोगोंं की मौतें भी हो गई। इस बीच गुरुवार का दिन बहुत राहत भरा रहा। लगभग ढाई महीने बाद कोरोना जीरो पर आ गया। इससे पहले मार्च महीने के अंतिम हफ्ते में जीरो केस आए थे। वहीं जीरो आने पर जिले के जनता ने खुशी जताई तो प्रशासन ने भी इस पर मेडिकल टीम और जनता का आभार जताया।

मार्च के आखरी हफ्ते में आया था जीरो केस

फरवरी-मार्च महीने में दूसरी लहर ने जिले सहित पूरे प्रदेश में दस्तक दी थी। हालांकि इन दोनों महीनों में कोरोना का इतना प्रभाव नहीं रहा। मार्च के आखिरी सप्ताह में तो जीरो केस भी सामने आए हैं लेकिन अप्रैल महीने की शुरुआत होते ही कोरोना ने अपना कहर बरपा दिया था। हर घर में लगभग एक मरीज जरूर कोरोना से ग्रसित था। कई लोगों ने तो जांच तक नहीं करवाई और उनकी मौत भी संदिग्ध मौत बताई गई।

प्रशासन की जागरूक करने पर लोगों ने दिए सैंपल, करवाया इलाज

कोरोना के मामले में जिला प्रशासन ने आगे रहकर लोगों को जागरूक किया। जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा ने खुद मौके पर जाकर सारी व्यवस्थाएं भी देखी। ऑक्सीजन की उपलब्धता, बेड कम ना पड़े, उसकी भी व्यवस्था लगातार की। यहां तक की पहली बार हर ग्राम पंचायत में कोविड केयर सेंटर बनाए गए ताकि लोगों को अपने ही गांव में सारी सुविधाएं मिले।

वहां पर भी ऑक्सीजन की उपलब्धता रखी। जहां जरूरत होती है वहां पर भी उस गांव में जाकर वह ग्रामीणों से बात कर उन्हें समझाते। इस तरह लोगों ने भी आगे आकर अपनी जांच करना करवाना शुरू कर दिया और सही समय पर इलाज भी शुरू करवाया।

देखते ही देखते आज के दिन जिले में एक भी पॉजिटिव केस नहीं आया। हालांकि अभी भी 122 एक्टिव केस हैं और उम्मीद है कि जल्दी ही जिला कोविड फ्री जिला हो जाएगा। अब तक लगभग 19767 में से 19512 लोग ठीक हो कर घर लौटे हैं। गुरुवार को रिकवरी केस देखा जाए तो 34 लोग अपने घर लौटे हैं।

खबरें और भी हैं...