पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

डेयरी बोर्ड चुनाव:भाजपा के बद्री का पर्चा खारिज, कांग्रेस नेता बद्री जगपुरा पर भी आपत्ति, लेकिन उनका रास्ता साफ

चित्तौड़गढ़9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आज नाम वापसी, निर्विरोध नहीं हुए तो 12 अप्रैल को मतदान से तय होगा संचालक मंडल

चित्तौड़गढ़-प्रतापगढ़ दुग्ध उत्पादक संघ के नए अध्यक्ष सहित संचालक मंडल का चुनाव अब निर्णायक दौर मेंं आ गया। गुरुवार को 12 संचालक पदों के लिए 37 पर्चे दाखिल हुए। नामांकन प्रक्रिया में भारी गहमागहमी और सियासी गर्माहट रही।

भाजपा ने इस बार भी निवर्तमान चेयरमैन बद्री जाट सिंहपुर को ही आगे रखा तो कांग्रेस ने भी पहली बार डेयरी चुनाव को गंभीरता से लेते हुए उसी नाम के नेता बद्री जाट जगपुरा को आगे किया। दोनों ओर से दोनों नेताओं के नामांकन पत्रों पर आपत्तियां भी पेश हुई। देर शाम तक चली जांच के बाद भाजपा नेता बद्री जाट सहित 5 जनों के पर्चे खारिज हो गए। जबकि कांग्रेस के बद्री जगपुरा का पर्चा वैध पाया गया।

डेयरी चुनाव में विभिन्न चरणों में कुल186 प्राथमिक दुग्ध उत्पादक समितियों के संचालक मंडल गठित हुए थे। जिनमें से 33 समितियां प्रतापगढ़ जिले की और शेष चित्तौड़गढ़ जिले की है। संघ के संचालक मंडल की चुनाव प्र्रकिया गुरुवार को चुनाव अधिकारी डिप्टी रजिस्ट्रार सहकारिता जयदेव देवल के निर्देशन में शुरू हुई।

सुबह साढे नौ बजे से दोपहर साढे बारह बजे तक कुल 37 नामांकन पत्र दाखिल किए गए। दोपहर में जांच के दौरान कुल 14 आपत्तियां पेश की गई। जिनमें निवर्तमान चेयरमैन पूर्व विधायक बद्रीलाल जाट सिंहपुर और कांग्रेस के एआईसीसी सदस्य बद्री जाट जगपुरा के भी शामिल होने से भारी गहमागहमी बन गई।

देर शाम तक जांच के दौरान भाजपा के बद्री जाट सहित उनके समर्थक 4 अन्य प्रत्याशियों के भी पर्चे खारिज हो गए। अब 32 प्रत्याशी मैदान में है। शुक्रवार को नाम वापसी के बाद यदि सभी 12 पदों के लिए बराबर 12 उम्मीदवार ही रहे तो संचालकों का निर्विरोध निर्वाचन हो जाएगा।

इससे अधिक रहे तो 12 अप्रैल को मतदान होगा। अगले दिन 13 को अध्यक्ष का चुनाव होगा। फिलहाल स्थिति में कांग्रेस नेता बद्री जाट जगपुरा का बोर्ड बनाने का रास्ता साफ होता नजर आ रहा है। संचालकों के 12 में से दो वार्ड प्रतापगढ जिले के है। जहां से निवर्तमान डेयरी उपाध्यक्ष भरत आंजना ने भी पर्चा दाखिल किया।
भाजपा- सिंहपुर से बाहर होने पर हाईकोर्ट से राहत नहीं मिली पर पिराणा से वापस एंट्री
इस बार डेयरी चुनाव शुरु से आखिर तक रोचक व दांवपेचों वाला बन गया। संघ का डायरेक्टर या अध्यक्ष बनने के लिए किसी भी प्रत्याशी को प्राथमिक दुग्ध उत्पादक समिति से संचालक बनकर आना होता है। भाजपा के बद्री जाट ने अपने मूल गांव सिंहपुर समिति से पर्चा भरा लेकिन लगातार दो चुनाव नहीं लड सकने के प्रावधान को लेकर पेश हुई आपत्ति पर उनका नामांकन खारिज हो गया।

भाजपा व बद्री सिंहपुर ने इसे राजनीतिक द्वेषतावश करार देते हुए हाईकोर्ट तक की शरण ली पर कोई राहत नहीं मिली। इससे विरोधियों सहित सभी ने उनको चुनाव से बाहर मान लिया था। इस बीच बद्री जाट अगले चरण में बड़ीसादड़ी की पिराणा प्राथमिक समिति में चुपचाप पर्चा भरकर वहां से संचालक बन कर आ गए।

सके बाद कांग्रेस खेमा फिर अलर्ट हुआ। संघ संचालक मंडल चुनाव में उनके पर्चा भरते ही पिराना के ही सदस्य श्रीलाल अहीर ने आपत्ति लगा दी। जिसमें कहा गया कि ये न तो यहां के मूल निवासी है और न एक व्यक्ति दो समितियों से नामांकन दाखिल कर सकता है। सिंहपुर में पर्चा खारिज हो गया तो वे पिराना में चुनाव अधिकारी को गुमराह कर सदस्य बन गए।
कांग्रेस जगपुरा से जीतकर पहली बार डेयरी चुनाव में भी एंट्री ली, अब अध्यक्ष के दावेदार
राशमी क्षेत्र के कांग्रेस नेता व एआईसीसी सदस्य बद्री जाट जगपुरा अपने गृह क्षेत्र जगपुरा की प्राथमिक समिति से ही संचालक बनकर मुख्य चुनाव में आए। तब ही लगने लगा था कि इस बार कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव तक पूरी ताक ठोेकेगी। गुरुवार को उनके नामांकन पर जगपुरा के ही जीतमल जाट ने उनके तीन संतान होने सहित चार बिंदुओं की आपत्ति पेश की।

उनकी ओर से वकील सुनील सुखवाल ने दलीलें पेशकर इसे गलत बताया। आपत्ति खारिज होने के साथ ही संचालक मंडल में कांग्रेस समर्थित उम्मीदवारों के बहुमत में आने पर पूरी संभावना है कि बद्री जगपुरा डेयरी अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार रहेंगे।

दोनों बद्री अभी जिला परिषद में सदस्य भी...डेयरी चुनाव में अपने खेमों की अगुवाई कर रहे कांग्रेस व भाजपा नेताओं के बीच समानता भी रोचक है। दोनों के नाम बद्री जाट है। दोनों वर्तमान में जिला परिषद सदस्य भी है। भाजपा के बद्री जाट सिंहपुर पूर्व में भी जिप सदस्य, कपासन विधायक व दो बार डेयरी चेयरमैन रह चुके है। कांग्रेस के बद्री जाट जगपुरा एआईसीसी सदस्य है। पत्नी सरपंच है। ये दोनों नेता एक ही विस कपासन क्षेत्र के है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें