पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

औषधि पौधों के वितरण में चित्तौड़ का पहला स्थान:11 ब्लॉकों में एक लाख से ज्यादा परिवारों को पौधों का वितरण,शहरी क्षेत्रों से ज्यादा गांवों में दिखा उत्साह

चित्तौड़गढ़5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कार्यक्रम के शुरुआती दिनों में पौधों का वितरण करते हुए। - Dainik Bhaskar
कार्यक्रम के शुरुआती दिनों में पौधों का वितरण करते हुए।

चित्तौड़ जिला ने घर-घर औषधि वितरण करने में प्रदेश में पहला स्थान प्राप्त किया है। राज्य सरकार के आदेश पर वन विभाग की ओर से पौध वितरण कार्यक्रम चलाया गया। उप वन संरक्षक सुगनाराम जाट ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि शहरी क्षेत्रों के लोगों से ज्यादा ग्रामीणों ने कार्यक्रम में ज्यादा उत्साह दिखाया।

डीएफओ सुगनाराम जाट ने बताया कि शत-प्रतिशत लक्ष्य अर्जित करते हुए कुल 1,63,751 परिवारों को 13,10,008 पौधों का वितरण किया गया। इसके अंतर्गत जिले के शहरी क्षेत्र में 2,51,040 एवं ग्रामीण क्षेत्र में 10,58,968 पौधों का वितरण किया गया। उन्होंने आमजन से पौधों को घरों में अवश्य लगाने व इनके औषधीय गुणों का लाभ उठाकर राज्य सरकार की इस जनकल्याणकारी योजना को सफल बनाने की बात कही है।

डीएफओ ने बताया कि अर्बन एरिया में बड़ीसादड़ी में 14160, बेगूं में 22528, रावतभाटा में 41912, चित्तौड़गढ़ शहर में 96432, कपासन में 18704, निम्बाहेड़ा में 57304 पौधों का वितरण किया गया। वहीं, गांवों में बड़ीसादड़ी में 78016, बेगूं में 74736, भदेसर में 89400, भैंसरोडगढ़ में 73240, भूपालसागर में 79512, डूंगला में 100048, गंगरार में 83176, कपासन में 76464, निम्बाहेड़ा में 146920, राशमी में 87008 पौधों का वितरण हुआ हैं।

खबरें और भी हैं...