पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पहले खाकी, अब डिस्काॅम पर दाग:डिस्काॅम वाहन से डाेडा-चूरा तस्करी; पुलिस ने पीछा किया तो बोलेरो खाई में पलटी, तकनीकी सहायक गिरफ्तार, दूसरा कर्मचारी भागा

चित्तौड़गढ़12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सरकारी वाहन में तस्करी करते पकड़ा डिस्काम का तकनीकी सहायक और बरामद डोडा-चूरा। - Dainik Bhaskar
सरकारी वाहन में तस्करी करते पकड़ा डिस्काम का तकनीकी सहायक और बरामद डोडा-चूरा।
  • केरपुरा ग्रिड के हैं कर्मचारी, तस्कराें से सांठगांठ में गिरफ्तार हो चुका बेगूं का कांस्टेबल

बिजली निगम के 2 कर्मचारी शनिवार रात सरकारी वाहन में डोडा-चूरा तस्करी कर रहे थे। पारसोली पुलिस की नाकाबंदी देख बोलेरो काे भगा ले गए। पुलिस ने पीछा किया ताे नंदवाई-खेड़ी के बीच बाेलेराे असंतुलित हाेकर खाई में पलट गई। पुलिस ने डिस्कॉम के तकनीकी सहायक को गिरफ्तार कर लिया जबकि दूसरा कर्मचारी बोलेरो की खिड़की से कूदकर भाग गया। जीप से 77 किलो डोडा-चूरा बरामद कर वाहन जब्त किया। गिरफ्तार तकनीकी सहायक सांवलिया जाट बिजली निगम का परमानेंट कर्मचारी है। फरार आरोपी भूपेंद्र सिंह संविदा कर्मचारी है। दोनों केरपुरा फीडर पर तैनात थे।

पारसोली थानाधिकारी संजय गुर्जर ने बताया कि एसपी दीपक भार्गव, डीएसपी राजेंद्र सिंह जैन के निर्देश पर मादक पदार्थों की थरपकड़ अभियान के तहत शनिवार रात नंदवाई-खेड़ी रोड पर नाकाबंदी की। थानाधिकारी संजय गुर्जर के नेतृत्व में प्रहलाद, हेमाराम, हरिशंकर, रणजीत ने रूपारेल बांध की तरफ जाने वाले रास्ते के पास नाकाबंदी की। देर रात नंदवाई की तरफ से आ रही बोलेरो को टाॅर्च की लाइट देकर रुकवाना चाहा। करीब 100 मीटर पहले ही चालक वाहन काे तेजी से भगा ले गया। पुलिस ने पीछा किया तो बोलेरो भवानीपुरा खेड़ी के पास खाई में पलट गई। एक आरोपी बोलेरो की खिड़की से कूदकर भाग गया। तलाशी में 5 कट्टों में 77 किलो डोडा चूरा बरामद किया। मौके पर पारसोली क्षेत्र के केरपुरा 33/11 ग्रिड फीडर के इंचार्ज तकनीक सहायक 29 वर्षीय भीलवाड़ा जिले के बीगोद क्षेत्र के हिंगोनिया निवासी सांवरिया पुत्र भैरूलाल जाट को गिरफ्तार किया। बोलेरो से कूदकर भागा दूसरा आरोपी केरपुरा फीडर पर संविदा कर्मी हिंगोनिया निवासी 22 वर्षीय भूपेंद्र सिंह पुत्र भगवत सिंह कानावत को नामजद किया गया। बिजली निगम के वाहन को जब्त किया। मामले की जांच बेगूं थाने के एसआई कमलचंद को सौंपी गई।

दोनों कर्मचारी भीलवाड़ा जिले के एक ही गांव के, नौकरी भी एक जगह
कुछ दिन पहले बेगूं थाने का कांस्टेबल राकेश जाट भी डोडा-चूरा तस्करी में शामिल निकला था। अब बिजली निगम के कर्मचारी भी डोडा-चूरा तस्करी में पकड़े गए। सरकारी वाहन में बरामद डोडा-चूरा की तस्करी की जा रही थी। पारसोली क्षेत्र के केरपुरा 33/11 केवी जीएसएस फीडर का सब डिवीजन बस्सी है। डोडा-चूरा मामले में गिरफ्तार सांवरिया जाट अजमेर विद्युत निगम का स्थाई कर्मचारी है। आरोपी सांवरिया जाट 2010 से कार्यरत है।

जबकि भूपेंद्र सिंह संविदा कर्मचारी है। दोनों केरपुरा फीडर पर ही लंबे समय से कार्यरत हैं। दोनों भीलवाड़ा जिले के बीगोद थाना क्षेत्र के हिंगोनिया गांव के रहने वाले हैं। शनिवार रात बिजली निगम के रखरखाव और उपभोक्ताओं की शिकायतें दूर करने में लगे वाहन में डोडा-चूरा तस्करी करते पकड़े गए।

खबरें और भी हैं...