सांवलिया सेठ को करोड़ों का चढ़ावा:दो दिन में 6 करोड़ से ज्यादा नकदी मिली, भेंट कक्ष से 68 लाख रुपए निकले, आज फिर होगी गिनती

चित्तौड़गढ़13 दिन पहले
श्री सांवलियाजी मंदिर में दूसरे दिन नोटों की गिनती करते हुए।

सांवलिया सेठ के मंदिर में बुधवार को अमावस्या के दिन देर शाम तक नोटों और सिक्कों की गिनती की गई। बुधवार को एक करोड़ से ज्यादा की राशि की गिनती हुई है। भंडारे से दो दिनों में 6 करोड़ एक लाख 56 हजार 464 रुपए प्राप्त हुए हैं।

मंदिर में इतना चढ़ावा आ रहा है कि नोटों की गिनती करने में कई दिन निकल जाते हैं। दो दिन बाद भी दानपेटी में नकद बाकी है, जिसकी गणना आज की जाएगी। श्राद्ध पक्ष मंदिर में भक्तों की भीड़ कम रही। इसके बावजूद करोड़ों की राशि निकलने से मंदिर समिति के सदस्य भी हैरान हैं।

सोना-चांदी भी निकला
कृष्ण चतुर्दशी पर पहले दिन 4 करोड़ 93 लाख 14 हजार रुपए दान पात्र से प्राप्त हुए थे। अमावस्या के दिन भेंट कक्ष से 68 लाख रुपए से ज्यादा गिनती में मिले। साथ ही 34 ग्राम 600 मिली ग्राम सोना और 11 किलो 169 ग्राम 500 मिलीग्राम चांदी प्राप्त हुई है। भंडार कक्ष से एक करोड़ 8 लाख 42 हजार 464 रुपए निकले हैं।

पहले दिन दानपेटी से निकले सोने का तोल
अमावस्या के दिन मंगलवार को दानपात्र से निकले सोने का तोल किया गया तो कुल 310 ग्राम सोना और 5 किलो 200 ग्राम चांदी निकली। दोनों दिन की गिनती को मिलाकर कुल भंडार से 6 करोड़ 1 लाख 56 हजार 464 रुपए प्राप्त हुए। शेष राशि की गणना आज फिर की जाएगी। अमावस्या के दिन भी दर्शनार्थियों के लिए मंदिर के पट बंद रहे। कोरोना के कारण मंदिर को श्रद्धालुओं के लिए दो दिन का बंद रखा गया था। लोगों के लिए मंदिर गुरुवार से खोला जाएगा।

गिनती के दौरान विधायक अर्जुनलाल जीनगर भी मौजूद रहे।
गिनती के दौरान विधायक अर्जुनलाल जीनगर भी मौजूद रहे।

मंदिर मंडल के सदस्यों ने कहा कि 15 दिन श्राद्ध पक्ष रहे। इस दौरान भक्तों का मंदिर आना कम हुआ। इसके बाद भी एक महीने में करोड़ों की नकद राशि निकलना हैरान करने वाली बात है। दिवाली बाद गुजरात में कुछ दिन का अवकाश रखा जाता है। उस दौरान गुजरात के लोग सबसे ज्यादा सांवलिया सेठ के दर्शन करने आते हैं।

नोटों की गिनती करते हुए।
नोटों की गिनती करते हुए।
खबरें और भी हैं...