• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bhilwara
  • Chittorgarh
  • Due To The Nexus Of Gehlot And Raje Government, The Condition Of Law And Order Is Bad, Rajasthan Is At Number One In Women Harassment, The Credibility Of The Police In The State Also Fell Down

गहलोत और राजे सरकार की सांठ-गांठ से कानून व्यवस्था बिगड़ी:चित्तौड़ दौरे पर नागौर सांसद बोले-महिला उत्पीड़न के मामले में राजस्थान पहले नंबर पर, राजस्थान में विकल्प के तौर पर आरएलपी को देखा जा रहा

चित्तौड़गढ़17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नागौर सांसद हनुमान प्रसाद बेनीवाल। - Dainik Bhaskar
नागौर सांसद हनुमान प्रसाद बेनीवाल।

आरएलपी के राष्ट्रीय संयोजक और नागौर सांसद हनुमान प्रसाद बेनीवाल ने भाजपा और कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा। बेनीवाल ने कहा कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया सांठ-गांठ के चलते ही राजस्थान में कानून व्यवस्था का हाल बेहाल है। पुलिस की साख राजस्थान में बहुत ही कम हो गई है। बेनीवाल अल्प प्रवास के लिए भीलवाड़ा से चित्तौड़गढ़ पहुंचे,जहां पर सर्किट हाउस में पत्रकारों से बात की। उन्होंने कहा कि राजस्थान में कानून व्यवस्था बिगड़ रही है। महिला उत्पीड़न के मामले में राजस्थान पहले स्थान पर आ गया है जो कि शर्मनाक बात है।

सांसद और विधायक फैक्ट्रियों के मुनीम गिरी करते है
बेनीवाल ने कहा कि राजस्थान में भाजपा और कांग्रेस दोनों ही मजबूत सरकार नहीं दे सकते,अब विकल्प के तौर पर आरएलपी को देखा जा रहा है। मेवाड़ और आदिवासी क्षेत्र राजस्थान में सबसे अधिक पिछड़े हुए हैं। भाजपा और कांग्रेस की सरकार मेवाड़ के भोले-भाले लोगों के साथ सिर्फ राजनीति कर रही है। दोनों ही दलों के नेता विकास के सिर्फ दावे करते हैं और विकास कहीं धरातल पर दिखाई भी नहीं दे रहा है। मेवाड़ के पूरे क्षेत्र में सीमेंट कंपनियों की दादागिरी सिर चढ़कर बोल रही है। सांसद और विधायक इन फैक्ट्रीयों के यहां पर मुनीम गिरी का काम करते हैं, जिसमें कोई ट्रांसपोर्टर का काम करता है, तो कोई जिप्सम सप्लाई का काम कर रहा है, सभी स्थानीय नेता सीमेंट फैक्ट्री मालिकों के यहां पर पहरेदारी का काम कर रहे हैं।

आरएलपी करेगा जोधपुर में आंदोलन
उन्होंने बताया कि देश की संसद और विधानसभा में एक कानून पास किया जाना चाहिए। जिस क्षेत्र में बड़ी फैक्ट्री या कोई प्लांट स्थापित होगा उसमें 70 से 80 प्रतिशत स्थानीय निवासियों को रोजगार देने का कानून बनाया जाना चाहिए। राजस्थान सरकार राज्य में सीएसआर का फंड का दुरुपयोग कर रही है और सीएसआर फंड का पैसा विकास कार्यों के बजाय और कहीं खर्च हो रहा है। उन्होंने बताया कि इन सभी समस्याओं को लेकर आरएलपी आने वाले दिसंबर माह मे जोधपुर से एक बड़े आंदोलन का आगाज करेगा और यह आंदोलन पूरे राज्य में किया जाएगा।

चित्तौड़ पहुंच कर की जनसुनवाई
इससे पहले आरएलपी राष्ट्रीय संयोजक हनुमान प्रसाद बेनीवाल के चित्तौड़गढ़ पहुंचने पर कलेक्ट्रेट और सर्किट हाउस पहुंचने पर पार्टी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने फूल माला पहनाकर उनका स्वागत किया। सर्किट हाउस में उन्होंने जनसुनवाई भी की, जिसमें आमजन ने उन्हें अपनी पीड़ा भी सुनाई। जिस पर शीघ्र ही उनकी समस्याओं के समाधान करने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर आरएलपी के स्थानीय कार्यकर्ता और आम जन मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...