यूरिया लेने पहुंचे किसान, वैक्सीनेशन के बाद ही मिला बैग:किसानों ने बोला झूठ तो अफसरों ने ऑनलाइन चैक कर लगवाई वैक्सीन, बैंक में भी बिना टीका लगवाए नहीं मिला प्रवेश

चित्तौड़गढ़16 दिन पहले
यूरिया लेने आए किसान को मौके पर ही लगाया वैक्सीन।

कोरोना से बचने के लिए टीकाकरण बहुत जरूरी है, लेकिन अभी भी कई वर्ग ऐसे हैं जो वैक्सीन लगाने से कतराते हैं। ऐसे में बेगूं उपखंड अधिकारी ने तीसरी लहर से बचने के लिए लोगों को ज्यादा से ज्यादा वैक्सीनेशन से जोड़ने के लिए नया तरीका अपनाया है। उपखंड के इंसिडेंट कमांडर एसडीएम मुकेश कुमार मीणा ने भीड़भाड़ वाली जगहों पर वैक्सीनेशन से वंचित लोगों को वैक्सीनेट करने का एक विशेष आदेश जारी किया है।

यहां गुरुवार को यूरिया लेने आए किसानों में से जिन किसानों के वैक्सीन नहीं लगी है उनको मौके पर ही टीका लगाया गया। उन्होंने इसके लिए पहले से ही आदेश जारी कर दिया था कि बिना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट के ना तो बैंक के अंदर जाने दिया जाएगा और ना ही यूरिया खाद दिया जाएगा। बता दें कि इन दिनों यूरिया खाद लेने के लिए हजारों की संख्या में भीड़ जमा हो रही है। इसके अलावा बैंकों में भी काफी भीड़ रहती है। एसडीएम के आदेश पर तहसील के हर बैंक और यूरिया वितरण केंद्रों पर एक-एक मेडिकल टीम तैनात कर दी गई है।

लेने गए थे खाद, लगा कर आए वैक्सीन

जो लोग बैंक में काम से आए हैं और उन्होंने वैक्सीन नहीं लगाई हुई है तो उन्हें वैक्सीन लगाने के बाद ही अंदर जाने दिया गया। इसी तरह पुराने बस स्टैंड स्थित यूरिया वितरण केंद्र पर भी ऐसा ही माहौल दिखा। जहां किसानों की लंबी लाइन तो लगी थी, लेकिन स्वास्थ्य विभाग की मेडिकल टीम भी मौजूद रही। मौके पर आए किसानों से वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट मांगा गया। जिनके पास दो वैक्सीन लगा लेने का प्रूफ था, उन्हें खाद का बैग दे दिया गया। लेकिन जिनके पास सर्टिफिकेट नहीं था उन्हें मौके पर ही वैक्सीन लगाया गई। इस दौरान कई किसान ऐसे भी थे जिन्होंने एक डोज भी नहीं लगाया था, उनके 1st डोज मौके पर लगाई गई। जिनके सेकंड डोज बाकी थी उनको सेकंड डोज लगवाई गई। इस अनोखे तरीके से कुछ लोग भले ही नाखुश हों, लेकिन उनके पास वैक्सीन लगवाने के अलावा कोई चारा नहीं बचा।

बचते रहे किसान

कई किसानों ने वैक्सीनेशन से बचने के लिए झूठ भी बोला, लेकिन मेडिकल टीम ने जब उनका नंबर लेकर साइट पर चेक किया तो एक भी डोज नहीं लगी थी। इस पर मेडिकल टीम ने तुरंत लोगों को वैक्सीन लगाई। वहीं मेडिकल टीम द्वारा हर वार्ड के लोगों की वैक्सीनेशन को लेकर एक सूची बनाई गई।