अवैध कार्रवाई पर रसद विभाग का शिकंजा:ढाबों के आड़ में चला रहे अवैध पेट्रोलियम पदार्थो का कारोबार, रसद विभाग ने की कार्रवाई, 4000 लीटर से ज्यादा पेट्रोलियम पदार्थ जब्त

चित्तौड़गढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ढाबे के पीछे पेट्रोल पंप जैसे ही पेट्रोलियम पदार्थ के लिए बना रखा है टैंक। - Dainik Bhaskar
ढाबे के पीछे पेट्रोल पंप जैसे ही पेट्रोलियम पदार्थ के लिए बना रखा है टैंक।

जिले में इन दिनों अवैध पेट्रोलियम पदार्थ के कारोबार को लेकर कई कार्रवाई की जा रही है। जिले में ढाबे के आड़ में लोग बायोडीजल के नाम पर पेट्रोलियम पदार्थ का अवैध कारोबार को अंजाम दे रहे हैं। इसकी सूचना पर सदर थाना क्षेत्र के अंतर्गत बुधवार को कार्रवाई करते हुए रसद विभाग की टीम ने एक ढाबे पर दबिश देकर वहां से 4000 लीटर से भी ज्यादा पेट्रोलियम पदार्थ जब्त किया।

रसद विभाग ने की कार्रवाई।
रसद विभाग ने की कार्रवाई।

हाईवे पर स्थित कई होटलों और ढाबों के आड़ में संचालक पेट्रोलियम पदार्थ बेचने का कार्य करते हैं। वहां आने वाले बड़े वाहनों को यह पेट्रोलियम पदार्थ ब्लैक में बेचा करते हैं। नरपत की खेड़ी पुलिया के समीप संचालित होटल सांवरिया रेस्टोरेंट पर रसद विभाग ने की टीम ने दबिश दी। कार्रवाई के दौरान यह सामने आया कि ढाबों की आड़ में जमीन लीज पर देकर किसी ओम शांति कंपनी के नाम पर अवैध पेट्रोलियम पदार्थ का खेल खेला जा रहा है। होटल के पीछे पेट्रोल पंप जैसे ही टैंक बनाकर उसमें पेट्रोलियम पदार्थ भरा हुआ है। वही रिटेल में बेचने के लिए एक अलग से केबिन बनाकर उसमें ड्रम में भरकर पेट्रोलियम पदार्थ रखा गया था।

4000 लीटर से भी ज्यादा पेट्रोलियम पदार्थ जब्त।
4000 लीटर से भी ज्यादा पेट्रोलियम पदार्थ जब्त।

बड़ी मात्रा में बेचने के लिए पेट्रोल पंप के जैसे ही मिनी डिस्पैच मशीन लगाकर यह कारोबार संचालित किया जा रहा था। लंबे समय से रसद विभाग को इस बात की शिकायतें मिल रही थी। हाईवे के ढाबों पर अवैध पेट्रोलियम पदार्थ को बायोडीजल बताकर बेचा जा रहा था। इस पूरी कार्रवाई से साफ हो गया है कि जिले में बड़े पैमाने पर अवैध पेट्रोलियम पदार्थों का कारोबार हो रहा है, जिसमें बड़े रसूखदार नाम शामिल और बड़े पैमाने पर मोटे मुनाफे की आड़ में एक खेल खेला जा रहा है। अब देखने वाली बात होगी इस खेल के बड़े मगरमच्छ को तक सरकारी महकमों के जिम्मेदार कब पहुंच पाते हैं।

मिनी डिस्पैच मशीन लगाकर यह कारोबार चला रहे है।
मिनी डिस्पैच मशीन लगाकर यह कारोबार चला रहे है।
खबरें और भी हैं...