लाखों रुपए का किया दान:550 बीघा में गाेनंदी सेंचुरी में मकर सक्रांति पर गोवंश काे प्रवेश कराने का निर्णय संतों-गोभक्तों के सानिध्य में हुआ

चित्ताैड़गढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

श्रीनीलिया महादेव गोशाला समिति द्वारा 550 बीघा की विराट गाेनंदी सेन्चुरी में मकर संक्रांति को हजारों की संख्या में गोवंश के प्रवेश तथा अक्षय तृतीया तक पच्चीस हजार गोवंश से सुरभित गाेनंदी सेन्चुरी के निर्माण के लिए तैयारियां शुरू हा़े चुकी हैं। इस संबंध में मैराथन मीटिंग अभयपुरा घाटा क्षेत्र में पंचुडला ग्राम स्थित गाेनंदी सेंचुरी परिसर में किया गया। अध्यक्षता कार्यक्रम के प्रेरक पंडित विष्णु दत्त शर्मा सचिव कृषि उपज मंडी नोहर एवं भादरा ने की। विशिष्ट अतिथि अमर शहीद मेजर नटवर सिंह के भाई शक्ति सिंह शक्तावत थे। वहीं कार्यक्रम में श्रीरामदास त्यागी सियालिया आश्रम एवं श्रीवैष्णव दास नरसिंह द्वारा के सानिध्य में मीटिंग शुरू हुई।

नीलिया महादेव गोशाला समिति के सचिव कमलेश पुरोहित ने बताया कि मैराथन मीटिंग के दाैरान गोदान करने वाले विभिन्न गांव के प्रतिनिधियों के रूप में किशन सुथार, संपत शर्मा, मथुरा लाल जाट, गोवर्धन जाट, मांगीलाल जाट, अंबालाल जाट देवाराम कुमावत, डालचंद कुमावत, जयनारायण कुमावत, मनोहर दास, राधेश्याम कुमावत, गोपाल जणवा, भैरूलाल जणवा, श्याम शर्मा, कैलाश प्रजापत आदि उपस्थित रहे।

वहीं चारभुजा नाथ ट्रस्ट के नरेंद्र सिंह, श्रीराम नाम के लखपति जापक रामावतार, मनोहरदास, प्रिंस शर्मा, योगेश दशोरा, हर्षद अरोरा, आशीष, जीवन चौधरी, प्रकाश भट्ट, रवि मेनारिया, सीपी नामधरणी, किशन जागेटिया, विनोद सुखवाल आदि रहे तथा श्री नीलिया महादेव गौशाला समिति के शरद सोनी, भगवान तड़बा, शिव बजाज, दिनेश गर्ग, संतोषीलाल गर्ग, शरद नामधर, अशोक पालीवाल, उमेश त्रिपाठी सहित अनेक गौ भक्त इस मीटिंग में सम्मिलित हुए लगभग 200 गो भक्त उपस्थित हुए। इस अवसर पर गोनंदी सेंचुरी से अधिकाधिक समाज को जोड़ने के लिए विभिन्न प्रकार के प्रकल्पों को शामिल किया गया।

जिसमे जुड़े हुए सभी भक्तगण अपने पारिवारिक समारोह यथा एनिवर्सरी जन्मोत्सव आदि, गोनंदी सेंचुरी में मनाएंगे तथा प्राप्त धन को गोवंश की सेवा के लिए भेंट करेंगे। सभी गौ भक्तों व्यक्तिगत रूप से राम नाम का संकीर्तन कर दो करोड़ राम मंत्र का जप पूर्व किए हुए 16 करोड़ के जप के साथ पूर्ण करेंगे। मकर सक्रांति को समारोह के साथ हजारों गायों को प्रवेश कराया जाएगा। विभिन्न प्रकार के गोउत्पाद निर्माण किए जाएंगे तथा सभी लोग उत्पाद उपयोग में लेंगे एवं अपने मित्रों को प्रेरित भी करेंगे । इसके साथ ही विभिन्न गौशालाओं को उत्पादन निर्माण के लिए प्रशिक्षण का उत्तम केंद्र यहां उपलब्ध होगा। नीलिया महादेव गौशाला समिति के अध्यक्ष शरद सोनी ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

खबरें और भी हैं...