पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वैक्सीनेशन को लेकर डर निकालने की कोशिश:वैक्सीनेशन बढ़ाने के लिए जिला कलेक्टर और एसपी ने ग्रामीणों से मिलकर किया मोटिवेट, टीकाकरण केंद्रों में जाकर लोगों को समझाया

चित्तौड़गढ़13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टीकाकरण केंद्र में लोगो से वैक्सीन को लेकर समझाइश करते हुए जिला कलेक्टर और एसपी। - Dainik Bhaskar
टीकाकरण केंद्र में लोगो से वैक्सीन को लेकर समझाइश करते हुए जिला कलेक्टर और एसपी।

लोगों के मन में वैक्सीन को लेकर कई तरह के भ्रम है। कई लोग इससे बचने की भी कोशिश करते हैं। इस कारण से जिला अभी भी वेक्सीनेशन के मामले में काफी पीछे है। वैक्सीन को लेकर सभी शक दूर हो और लोग आगे बढ़कर वैक्सीन करवाएं उसके लिए जिला कलेक्टर और एसपी ने नया प्रयास शुरू किया है। दोनों अधिकारी अब ग्रामीण क्षेत्रों के टीकाकरण केंद्रों पर खुद जाकर लोगों को मोटिवेट कर रहे हैं।

जिले में कई समुदाय विशेष के लोग है जो टीकाकरण नहीं करवाना चाहते है। वे लोग कई तरह के गलतफहमी का शिकार हैं। ऐसे में जिले का वैक्सीन अनुपात काफी कम है। प्रशासन ने जागरूक करने के लिए हर तरह के कदम उठाए फिर भी 45 प्लस वालों का वैक्सीन के प्रति रुचि देखने को नहीं मिल रही है।

इन सिचुएशन को देखते हुए रविवार को जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा और एसपी दीपक भार्गव खुद उन सभी टीकाकरण केंद्रों पर पहुंचे जहां रेशों बहुत कम रहा है। वहां जाकर तो उन्होंने लोगों को मोटिवेट किया। उनको समझाया कि टीका लगाना क्यों जरूरी है।

इस दौरान दोनों अधिकारियों ने ग्रामीणों से ग्राउंड लेवल का फीडबेक लिया। ग्रामीणों ने अधिकारियों को बताया कि अभी भी ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों में वैक्सीन को लेकर तरह-तरह के भ्रम फैले हुए हैं, जिस वजह से कुछ लोग वैक्सीन लगाने के लिए डर रहे हैं। इस पर अधिकारियों ने उन्हें प्रैक्टिकल बातें समझाईं।

ग्रामीणों ने बताई अपनी अन्य समस्याएं

ग्रामीणों से मिलने गए जिला कलेक्टर को गांव वालों ने अन्य समस्याओं के बारे में बताया। जिला कलेक्टर और एसपी दोनों कांकरवा रेल्वे के अंडर ब्रिज पर गये जहां पर स्टे लगने से ब्रिज अधरझूल में लटक रहा है। जिला कलक्टर ने वहां से जमीन मालिक एवं पूर्व ग्राम पंचायत सरपंच को बुलाया और समाधान करने की कोशिश की।

लोगों से मिलकर जानी समस्याएं।
लोगों से मिलकर जानी समस्याएं।
खबरें और भी हैं...