भाजपा नेता के खिलाफ मामला दर्ज:मकान मालिक की गैर मौजूदगी में किया पैतृक मकान पर कब्जा, ताले तोड़कर घर में रखे डॉक्यूमेंट्स भी किए चोरी, जान से मारने की धमकी दी

चित्तौड़गढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भाजपा में नेता शंभू लाल मेनारिया। - Dainik Bhaskar
भाजपा में नेता शंभू लाल मेनारिया।

जिले के बड़ीसादड़ी थाना क्षेत्र में पांच हजार स्क्वायर फीट की संपत्ति पर कब्जा करने की कोशिश करने और गृह स्वामी की गैर हाजिरी में मकान के ताले तोड़कर डाक्यूमेंट्स चोरी के मामले में भाजपा नेता और बड़ीसादड़ी पंचायत समिति के पूर्व उप प्रधान के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। मामला बड़ीसादड़ी तहसील के बोहेड़ा गांव की की है। इस मामले में प्रार्थी ने अपने सगे बड़े भाई और उसके जमाई के खिलाफ भी मामला दर्ज कराया है।

राजेश पुत्र बंशीलाल धींग ने रिपोर्ट में बताया कि बड़ीसादड़ी तहसील के बोहेड़ा गांव में पांच हजार स्क्वायर फीट में एक पैतृक मकान है, जिसके दो हजार स्क्वायर फीट में पक्का निर्माण है, जबकि 3 हजार स्क्वायर फीट का खुला एरिया है। राजेश धींग ने बताया कि मेरे पिता बंशीलाल धींग काफी साल पहले रतलाम शिफ्ट हो गए थे, लेकिन मैंने यही पर रहकर पढ़ाई की और 10-12 साल पहले अपने परिवार के कहने पर रतलाम शिफ्ट हो गया। उस दौरान इस मकान में ताले लगाए गए थे। हर साल में एक बार यहां आना होता है, लेकिन पिछले दो-तीन सालों में चित्तौड़गढ़ नहीं आना हुआ, तब से यह मकान बंद पड़ा है। इस मकान में एक दुकान को किराए पर दे रखा था। भाजपा नेता शंभूलाल पुत्र प्रेम सिंह मेनारिया ने डरा-धमकाकर दुकान की चाबी ले ली और किराएदार को वहां से निकाल दिया।

पारिवारिक बंटवारे को लेकर कोर्ट में चल रहा है वाद
राजेश ने बताया कि 2 महीने पहले भी शंभूलाल मेनारिया ने पंचायत समिति बड़ीसादड़ी में इस संपत्ति के पट्टे के लिए आवेदन किया था। उस दौरान चित्तौड़गढ़ आया और पुलिस को आवेदन दिया था। राजेश ने बताया कि हम 6 भाई हैं। उनमें से एक 54 वर्षीय बड़ा भाई पवन पुत्र बंशीलाल धींग और उनका जमाई विकास कुंवर इस संपत्ति को अपने नाम करना चाहते हैं। इसके चलते बंटवारे को लेकर पहले से ही कोर्ट में वाद चल रहा है। प्रॉपर्टी को लेकर कोर्ट ने स्टे ऑर्डर दे रखा है। इसके बाद भी पवन सिंह, विकास कुंवर और शंभूलाल मेनारिया 8 सितंबर को घर के अंदर घुसे और ताले तोड़कर अंदर रखी पेटी से घर के सारे डॉक्यूमेंट चुराकर ले गए और मकान पर अपना कब्जा जमा लिया। इसके बाद मेरी मां कंचन बाई पत्नी बंशीलाल धींग और अंकल पारस लाल पुत्र नानालाल धींग ने पुलिस को एक लिखित आवेदन दिया था। उस आवेदन पर मामला दर्ज नहीं हुआ। इसके बाद प्रार्थी ने खुद रतलाम से चित्तौड़गढ़ पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज करवाई।

पैतृक मकान जिस पर शंभूलाल मेनारिया कब्जा करना चाहता है।
पैतृक मकान जिस पर शंभूलाल मेनारिया कब्जा करना चाहता है।

भाजपा नेता ने दी जान से मारने की धमकी
राजेश ने कहा कि यह प्रॉपर्टी उसके दादाजी नानालाल धींग के नाम पर है। मकान के ताले तोड़कर चोरी करने के बाद मेनारिया ने आसपास के लोगों को भी धमकी दी। पड़ोसियों की सूचना पर राजेश ने चित्तौड़ आकर रिपोर्ट दर्ज करवाई। राजेश का कहना है कि मेनारिया ने सबको जान से मारने की धमकी दी है। राजेश ने प्रशासन से अपनी सुरक्षा को लेकर मांग की है। प्रार्थी राजेश ने बताया कि भाजपा नेता उन डॉक्यूमेंट्स को ले गया ताकि उसके आधार पर फर्जी दस्तावेज बना सके। कोर्ट द्वारा स्टे देने के बावजूद भी उसने कब्जा करने की कोशिश की। बता दें कि भाजपा नेता शंभू लाल मेनारिया ग्रामीण मंडल अध्यक्ष और बड़ीसादड़ी पंचायत समिति के पूर्व प्रधान रहे हैं।

खबरें और भी हैं...