पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मदद के नाम भोले-भाले लोगों से ATM में ठगी:रुपए निकालने की मदद के नाम लोगों को झांसे में लेकर पिन नंबर पूछते, बदले में जीरो बैलेंस वाला कार्ड देते, अब तक 3 लाख रुपए की ठगी कर चुके

चित्तौड़गढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एटीएम कार्ड साथ पुलिस ने दो आरोपियों को  गिरफ्तार किया। - Dainik Bhaskar
एटीएम कार्ड साथ पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया।

एटीएम कार्ड बदलकर ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गैंग के दो आरोपी को निंबाहेड़ा सदर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी इससे पहले नीमच, इंदौर, धूलिया, औरंगाबाद, अलवर, सीकर, चौपानगी, गुड़गांव, दिल्ली में कई वारदात को अंजाम दे चुके हैं। पुलिस ने आरोपियों के पास से विभिन्न बैंकों के 30 एटीएम कार्ड बरामद की है। बताया जा रहा है कि बदमाशों ने लगभग तीन लाख रुपए की अलग-अलग स्थानों पर ठगी की है। थानाधिकारी फूलचंद टेलर ने बताया कि वंडर चौराहे पर नाकाबंदी की जा रही थी। इसी दौरान नीमच की तरफ से आ रही कार को रूकवा पूछताछ की लेकिन जवाब नहीं दे पाए। कार की तलाशी लेने पर जैसे ही डेश बोर्ड खोल कर देखा तो अलग-अलग बैंक के 30 एटीएम कार्ड मिले। पूछताछ में कार ड्राइवर ने अपना नाम घासेड़ा, थाना नूह, मेवात निवासी शाकिर पुत्र फतेह मोहम्मद और पीपाका, थाना तावडू, जिला नूह, मेवात निवासी अशपाक पुत्र नूर मोहम्मद होना बताया। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर पूछताछ शुरू कर दी है।

एमपी से लेकर महाराष्ट्र तक ठगी
पूछताछ में बताया कि 14 जून को नुहू, जिला मेवात, हरियाणा से रवाना होकर जयपुर, अजमेर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, नीमच, इंदौर, धूलिया होते हुए औरंगाबाद पहुंचे। इस बीच रास्ते में उन्होंने नीमच, इंदौर, धूलिया, औरंगाबाद आदि जगहों पर भोले-भाले लोगों को एटीएम मशीन से पैसे निकालने की मदद के नाम पर उनके पैसे लूट लिए।

दूसरे एटीएम में जाकर रुपए निकालते, रिश्तेदारों के खाते में जमा करवाते
थानाधिकारी टेलर ने बताया कि यह लोग हाईवे पर घूमते रहते और किसी भी एटीएम के बाहर गाड़ी रोक कर थोड़ी देर इंतजार करते। यदि उसे थोड़ा समय लगता तो उसकी मदद के बहाने अंदर चले जाते और जाल में फंसा उनकी मदद के बहाने पिन नंबर पूछ लेते। इसके बदले जीरो बैलेंस वाला एटीएम कार्ड उन्हें वापस कर देते। इसके बाद वहां से निकल दूसरे एटीएम पर जाते और वहां उनके खाते से रुपए निकाल एटीएम मशीन से ही अपने रिश्तेदारों के अकाउंट में जमा करा देते। आरोपी पहले भी अलवर, सीकर, चौपानगी, गुड़गांव, दिल्ली जैसे स्थानों पर भी एटीएम कार्ड बदलकर ठगी कर चुके हैं।

आरोपियों से जब्त की गई कार।
आरोपियों से जब्त की गई कार।
खबरें और भी हैं...