पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राहत की खबर:एक साथ 40 ऑक्सीजन देने का प्रबंध, डर व चिंता भी घटी

चित्तौड़गढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भास्कर रिपोर्टर ने पीपीई किट पहनकर जाने कोविड सेंटर के इंतजाम, मरीज बोले- सुविधाएं ठीक हैं

(दीपचंद पाराशर) शहर के निंबाहेड़ा रोड पर स्थित सीताफल एक्सीलेंस सेंटर का भवन करीब दो महीने से कोविड डेडिकेटेट सरकारी अस्पताल में तब्दील है। जहां काेराेना मरीजों को ही भर्ती और कोविड-19 जांच का कार्य होता है। हालांकि अभी यहां 10 मरीज ही भर्ती है पर वे अस्पताल की व्यवस्थाओं से संतुष्ट है।

इनके दिन की शुरुआत सुबह याेगा से होती है। दाेपहर में मनाेरंजन के लिए गाने एवं शाम काे भजन सुनने तक की व्यवस्था है। पाेर्टेबल स्पीकर-माउथ के जरिए मरीज एवं चिकित्साकर्मी आपस में बात करते हैं। दोनों टाइम नर्सिंगकर्मी मरीजाें काे भाेजन पैकेट देने आते हैं। जिसका मीनू सातों दिन अलग अलग रहता हे। मैं, शुक्रवार सुबह 8.30 बजे पीपीटी किट पहनकर इस अस्पताल के अंदर पहुंचा हूं। प्राकृतिक याेग एवं अनुसंधान के प्रभारी अधिकारी डाॅ. लवकुश पाराशर द्वारा काेराेना मरीजाें काे याेगा कराया जा रहा है। अस्पताल प्रभारी डाॅ. आनंद देराश्री स्टाफ से आज की व्यवस्थाओं पर चर्चा कर रहे थे। नर्सिंग स्टाफ एवं डाक्टर्स पीपीई किट पहनकर वार्ड में राउंड करने की तैयारी में है।

अभी आठ मरीज ही भर्ती है। अब डाक्टर बारी-बारी से मरीजाें के हाल पूछते हुए आवश्यक हाेने पर दवा लिख रहे। उनके चेहरों पर किसी तरह की चिंता या तनाव नहीं है। मरीजाें ने कहा कि हम घर रहते तब भी शायद इतनी अच्छी देखभाल नहीं हो पाती। दिन की शुरुआत याेगा से होती है। वार्ड में एलईडी टीवी हैं। दाेपहर में गाने एवं शाम काे भजन सुनते है। डाक्टर्स से बात करनी हो या स्टाफ को कोई सूचना देनी हो तो माइक से करते है। खाने के लिए सात दिन का मीनू डिसाइडेड है। एक मरीज आईसीयू में है, उसके स्वास्थ्य में भी सुधार है।

100 बैडेड अस्पताल में शुरू में 40 से 50 मरीज हाेते थे...अभी केवल 8 से 10 ही
अस्पताल प्रभारी डाॅ. आनंद देराश्री ने बताया पीएमओ डाॅ. दिनेश वैष्णव के निर्देशन में यहां मई से काेविड अस्पताल शुरू हुआ। तब रोज 40 से 50 पाॅजीटिव भर्ती हाेते थे। अब संख्या में काफी कमी आई। इसकी वजह संक्रमण प्रसार और सैंपलिंग में कमी, रिकवरी रेट में वृद्वि और कई मरीजों को होम आइसोलेट होना भी है। अस्पताल 100 बेडेड है। इसमें 10 बेड का आईसीयू भी है।

आईसीयू में 6 वेंटीलेटर तथा दाे बीआईफैप, दाे सीफैप, 2 आक्सीजन कन्सट्रेटर सुविधा है। कुल 40 बेड पर सेंट्रल आक्सीजन सिस्टम भी लगा है। यानी एक समय में 40 जनाें काे आक्सीजन देने का इंतजाम है। सरकारी गाइडलाइन से उपचार के साथ आयुर्वेदिक काढ़ा वितरण एवं याेगा कराने की व्यवस्था भी की गई है। एक मरीज काे अधिकतम 10 दिन तक रखते हैं। पहले 5 दिन विशेष ध्यान रखना हाेता है।

24 घंटे डाॅक्टर 20 नर्सिंगकर्मी
काेविड अस्पताल में मरीजाें की देखभाल के लिए 20 नर्सिंगकर्मी लगे हैं। प्रत्येक आठ-आठ घंटे एक डाक्टर की ड्यूटी है। हर सुबह जिला अस्पताल से सीनियर फिजिशियन डाॅ. अनीश जैन के नेतृत्व में डाक्टर्स टीम राउंड पर आती है।

^बीकानेर के आनंद दाधीच ने बताया कि कोविड अस्पताल के वार्ड में सात दिन से भर्ती हूं। यहां पर रहने, खाने एवं इलाज की सेवाओं से संतुष्ट है। चिकित्साकर्मी देखभाल करने आते हैं। मैं सेवाओं से संतुष्ट हूं।

^4 दिन से भर्ती निर्मला टांक के अनुसार डाॅ. एवं नर्सिंगकर्मी बारी बारी से देखभाल करते हैं। हालांकि मैं भाेजन घर से मंगवा रही हूं, लेकिन यहां पर आ रहा खाना भी अच्छा है। स्टाफ परिवारजन की तरह देखभाल करता है।

^सेगवा निवासी गाेपाल माैड ने बताया कि चार दिन से भर्ती हूं। चाय, नाश्ता एवं भाेजन टाइम पर आ रहा है। घर जैसा ही अनुभव हाे रहा है। शायद दूसरे जिले में किसी सरकारी अस्पताल में भर्ती हाेते ताे भी ऐसी सुविधा नहीं मिलती।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें