पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

MP को जवाब देने पर जिलाप्रमुख ने CMHO को डांटा:सांसद बोले- आप CMHO हैं और पढ़कर जानकारी दे रहे हैं, सीएमएचओ बोले- इतना तो मुझे भी आता है; जिला कलेक्टर ने किया बीच-बचाव

चित्तौड़गढ़19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दिशा की बैठक लेते सांसद सीपी जोशी। - Dainik Bhaskar
दिशा की बैठक लेते सांसद सीपी जोशी।

चित्तौड़गढ़ जिला प्रमुख बुधवार को एक बैठक में सीएमएचओ रामकेश गुर्जर पर भड़क उठे। सांसद सीपी जोशी के जानकारी देने के तरीके को लेकर टोकने पर सीएमएचओ ने उन्हें जवाब दे दिया जिससे जिला प्रमख नाराज हो गए।

चित्तौड़गढ़ सांसद सीपी जोशी ने बुधवार को जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति (दिशा) की जिला स्तरीय बैठक ली। इसमें स्वास्थ्य और पीएचईडी विभाग की कार्य प्रणाली से काफी नाखुश हुए। बैठक के दौरान सांसद और जिला परिषद प्रमुख सुरेश धाकड़ ने सीएमएचओ रामकेश गुर्जर को फटकार लगाई।

दरअसल सांसद जोशी और जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा ने सीएमएचओ रामकेश गुर्जर को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना की संक्षिप्त जानकारी देने के लिए कहा। सीएमएचओ पेपर में देख कर जानकारी दे रहे थे, इस पर सांसद जोशी ने कहा कि आप सीएमएचओ के पद पर हैं फिर भी आपको पेपर देखकर जानकारी देने की जरूरत पड़ रही है।

सीएमएचओ ने सांसद जोशी को जवाब देते हुए कहा - इतना तो मुझे भी आता है। इस बात पर जिला प्रमुख सुरेश धाकड़ ने सीएमएचओ को फटकार लगाते हुए कहा कि पूरे कोरोनाकाल में आप कितने सेंटर्स का दौरा कर चुके हैं, इसकी जानकारी दें।

जनप्रतिनिधियों से कैसे बात की जाती है, यह सीख जाना चाहिए। आप उल्टा जवाब कैसे दे सकते हैं। जिला प्रमुख धाकड़ ने कहा कि आप इस पद के काबिल हैं या नहीं, यह नहीं पता, लेकिन केवल सर्टिफिकेट के हिसाब से आप सीएमएचओ बन गए। वहीं जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा बीच-बचाव करते हुए नजर आए।

डिलीवरी वाली महिलाओं को घर तक एम्बुलेंस में छोडने के लिए ऐड्रेस पर दे छूट

बैठक में डिलीवरी के बाद महिलाओं और नवजात को एंबुलेंस की सहायता से घर पहुंचाने के मामले में जिला प्रमुख धाकड़ ने सीएमएचओ से जवाब तलब किया। इस पर सीएमएचओ गुर्जर ने बताया कि वैलिड ऐड्रेस के हिसाब से जच्चा-बच्चा को उनके घर तक पहुंचाया जाता है।

जिला कलेक्टर ने इस पर सुझाव देते हुए कहा कि हमारे समाज में नियम है कि पहली डिलीवरी मायके में होती है। नवविवाहितों के अगर आधार कार्ड में ससुराल का एड्रेस है और वह मायके जाना चाहती है तो उन्हें मायके तक की ही बुकिंग दी जाए, इस बात का खास ध्यान रखें। जिला प्रमुख धाकड़ ने भी यह सुझाव दिया है कि डिस्चार्ज होने के बाद जच्चा-बच्चा को ज्यादा देर तक इंतजार ना कराएं। एक ही रूट पर अगर 2 महिलाओं को घर जाना है तो एक ही एंबुलेंस में दोनों को घर छोड़ा जाए।

क्षतिग्रस्त बिल्डिंग में कोविड पेशेंट को क्यों रखा

वहीं, कई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के अभी तक चालू नहीं करने पर गुस्सा किया। सांसद जोशी ने कहा कि जो प्रॉब्लम आ रही है उसे दूर करें। अगर ठेकेदार काम नहीं कर रहा है तो उसके खिलाफ कार्रवाई करें। सीएमएचओ ने बताया कि कुछ केंद्रों की हालत खराब है, जिसको ठीक करवाना है। ऐसे में जिला प्रमुख धाकड़ ने कहा कि जब बिल्डिंग सही नहीं थी तो कोविड मरीजों को कैसे रखा गया। अगर कुछ होता तो क्या आप जिम्मेदारी लेते।

बिना तैयारियों के आ गए अधिकारी

बैठक में सांसद जोशी ने पीएचईडी के अधीक्षक अभियंता श्योजीराम की बिना तैयारियों के साथ आने पर फटकार लगाई। उनसे जल वितरण के बारे में पूछताछ की गई तो उसकी जानकारी नहीं होना बताया। बैठक में मौजूद सरपंचों ने कई गांवों में हैंडपम्प खराब होना, गर्मी में टैंकरों की कमी, जल वितरण की कमी को लेकर शिकायत की।

खबरें और भी हैं...