बरसात से बहने लगा निलिया महादेव का झरना:परिवार के साथ पिकनिक मनाने पहुंचे लोग,भीलवाड़ा से भी आए पर्यटक,झरने के साथ ली सेल्फी,चार दिन से हो रही बरसात

चित्तौड़गढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अच्छी बारिश के बाद बहने लगा झरना। - Dainik Bhaskar
अच्छी बारिश के बाद बहने लगा झरना।

जिले में पिछले 4 दिनों से अच्छी बरसात हो रही है, जिसके चलते इन दिनों कई स्थानों में झरना बहने लगा है। आसपास के क्षेत्रों में पर्यटकों की चहल-पहल भी देखी गई है। प्राकृतिक सौंदर्य और पहाड़ियों से घिरा हुआ निलिया महादेव पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा हैं। यहां पहाड़ों के बीच से बहता झरना और उसका वेग देखने के लिए दूर-दूर से लोग आ रहे है।

झरना देखकर पर्यटक हो रहे हैं आकर्षित।
झरना देखकर पर्यटक हो रहे हैं आकर्षित।

बस्सी कस्बे से महज 5 किलोमीटर दूर राष्ट्रीय राजमार्ग 27 से मात्र 3 किलोमीटर की दूरी पर अरावली पहाड़ियों से घिरा हुआ निलिया महादेव के प्राचीन मंदिर में पूरे साल श्रद्धालुओं का आना-जाना लगा रहता है। बारिश के दिनों में यहां खास भीड़ रहती है। मंदिर के समीप ही पहाड़ियों से गिरता झरना सबके आकर्षण का केंद्र रहता है। लोग यहां पिकनिक के लिए आते है। रविवार को तो यहां भीड़ रहती है लेकिन सोमवार को बहुत ज्यादा भीड़ रहती है। निलिया महादेव के झरने पर रविवार को लोगों की अच्छी चहल-पहल रही। लोग नहाने का आनंद लेते दिखाई दिए। पर्यटक पिकनिक मनाने के लिए परिवार के साथ पहुंचे। झरने के साथ सेल्फी लेते हुए दिखे। जिले के अलावा भीलवाड़ा से भी बहुत अधिक संख्या में पर्यटक यहां पहुंचे।

ग्रामीणों की सहायता से बनाया जा रहा है मंदिर।
ग्रामीणों की सहायता से बनाया जा रहा है मंदिर।

निलिया महादेव है आस्था का केंद्र

ग्रामीण दिलीप कुमार लाठी ने बताया कि निलिया महादेव का मंदिर लोगों के लिए आस्था का केंद्र है। मंदिर में अन्य जिलों और अन्य राज्यों से भी लोग आते है। ग्रामीणों के सहयोग से यहां मंदिर का काम बड़े स्तर पर किया जा रहा है। मंदिर के निर्माण के लिए धौलपुर से पत्थर मंगवाया जा रहा है। जोधपुर से कारीगर आए। करीब 2 करोड़ रुपए के लागत का मंदिर बनाया जा रहा है। मंदिर से थोड़ी दूरी में जाकर पहाड़ियों की तरफ देखने पर प्राकृतिक ॐ नजर आता है। यहां से एक किलोमीटर की दूरी पर गौशाला है। जहां गोबर से निर्मित 51 फीट के गणेश जी की स्थापना कर रखी है। यही से गोबर के दिये, अगरबत्ती और अन्य सामान बनाये जाते है।

निलिया महादेव का मंदिर प्राचीन है, वहां पर्यटकों की भीड़ हमेशा रहती है।
निलिया महादेव का मंदिर प्राचीन है, वहां पर्यटकों की भीड़ हमेशा रहती है।

सहयोग, फ़ोटो आशीष नुवाल

खबरें और भी हैं...