आशीर्वाद:एकादशी पर सांवलियाजी की बेवाण यात्रा निकाली, नव दंपतियों ने आशीर्वाद लिया

चित्तौड़गढ़एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

देवउठनी एकादशी पर कृष्णधाम सांवलियाजी में मंदिर परिसर में ही सांकेतिक बेवाण यात्रा निकाली गई। दैनिक रात्रिकालीन आरती के बाद ओसरा पुजारी चुन्नीदास एवं मुकेश वैष्णव ने भगवान के बाल स्वरूप का मंदिर में पारंपरिक रूप से पूजन किया। भगवान को सिंहासन में विराजित किया। नाचते-गाते मंदिर कॉरिडोर में सांकेतिक जुलूस निकाला। प्रसाद वितरण के साथ जुलूस निकला। इस दाैरान मंदिर के प्रशासनिक अधिकारी कैलाशचंद्र दाधीच व कंवर लाल गुर्जर माैजूद रहे। बुधवार सुबह एकादशी पर पुजारी मुकेश ने भगवान सांवलिया सेठ की प्रतिमा को गंगाजल से स्नान करवाकर स्वर्ण मंडित पोशाक धारण करवाई। केसर चंदन का तिलक लगाया। मोरपंख, फूलमाला से सजावट की। आशीर्वाद लेने नव विवाहित जोड़े पहुंचे। देव दीपावली के अवसर पर देवी देवताओं को भोग धराए। शाम को घरों में दीपक जलाए।

खबरें और भी हैं...