पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राहत:मरीजों के दिन की शुरुआत योग से, दिन में कैरम-चेस और शाम को मेडिटेशन

चित्ताैड़गढ़11 दिन पहलेलेखक: दीपचंद पाराशर
  • कॉपी लिंक
मॉडल केयर सेंटर में फेफड़ों की क्षमता बढ़ाने वाली एक्सरसाइज करती महिला। - Dainik Bhaskar
मॉडल केयर सेंटर में फेफड़ों की क्षमता बढ़ाने वाली एक्सरसाइज करती महिला।
  • शहर के डाइट भवन में शुरू हुआ 48 बेडेड मॉडल कोवड केयर सेंटर प्रदेश में भी मॉडल बनेगा

कोविड संक्रमण से अस्पतालों में दर्दनाक मंजर के बीच शहर में एक ऐसा कोविड केयर सेंटर भी चालू हो गया है, जहां मरीजों के दिन की शुरुआत योगा से होती है। दिन में कैरम और चेस जैसे गेम और शाम को ध्यान-मस्ती की पाठशाला जैसा इंतजाम भी किया गया। डाइट भवन में 48 बेडेड इस सेंटर में हालांकि अभी 8 मरीज ही भर्ती है। जिनको अच्छे परिणाम भी मिलने लगे। प्रतापनगर क्षेत्र में एकांत व आबादी से दूर स्थित डाइट भवन में यह मॉडल कोविड केयर सेंटर उन संक्रमितों के लिए है, जो होम क्वारेंटाइन है लेकिन आक्सीजन लेवल गिरने की शुरुआत हो गई हो।

सेंटर प्रभारी आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी डा. लवकुश पाराशर के अनुसार आक्सीजन सिचुरेशन 85 से 93 के बीच वाले मरीजों को हॉस्पिटलाइज होने से रोकने के मकसद से यह केंद्र खोला। ताकि काेविड या जिला अस्पताल में भार कम हो। कलेक्टर ताराचंद मीणा की पहल पर यह नवाचार संभवतया प्रदेश में भी पहला है। यहां पहले दिन एक, दूसरे दिन 3 और तीसरे दिन तक 8 मरीज भर्ती हो गए। इनमें से कुछ आक्सीजन सिलेंडर पर आ गए थे। अब वापस सामान्य है। जरूरत पड़ने पर यहां सभी 48 बेड ऑक्सीजन युक्त किए जाएंगे।

घर से बेहतर महसूस कर रहे है अब मरीज
मीना देवी को शुगर ज्यादा, सांस लेने में तकलीफ हाे रही थीं। परिजन अमित ने बताया कि अब बेहतर अनुभव कर रही है। सुनील काबरा का भर्ती होने के समय ऑक्सीजन लेवल 80-85 प्रतिशत था। जो 90 प्रतिशत से अधिक हो गया है। अब बिना ऑक्सीजन सिलेंडर के हैं। परिजन रत्नेश ने बताया कि टीम की सेवा सराहनीय है।

यहां मरीजों को नियमित भोजन, अल्पाहार सहित सभी सुविधा निशुल्क है। प्राकृतिक चिकित्सा एवं अनुसंधान केंद्र प्रभारी लवकुश पाराशर की टीम सुबह मरीजों को योग-प्राणायाम कराती है। जिनके अनुसार अधिकांश मरीज तो मात्र संक्रमण की जानकारी से घबरा जाते हैं। इससे भी बीमारी बढ़ती है। यह सेंटर रोगी को उसी से दूर कर मनोबल मजबूत करने के लिए है। मरीज के लिए टीवी, केरम, चेस आदि गेम्स की सुविधा है। शाम को काव्य पाठ या भजन संध्या जैसी एक्टिविटी का भी प्लान है। कई पुस्तकें भी रखवाई जाने लगी। आत्मबोध योग संस्था के सदस्य भी 24 घंटे रोटेशन के आधार पर सेवा कर रहे हैं। इंदिरा रसोई से भोजन आ रहा है। कलेक्टर भी माॅनिटरिंग कर रहे हैं।

डाॅ. लवकुश पाराशर

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

    और पढ़ें