• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bhilwara
  • Chittorgarh
  • Polls Of Many Departments Opened In The Meeting, Many Schools In The District Are In Dilapidated Condition, MLA Akya Ordered Survey Of All Schools, CMHO Could Not Tell The Record Of Death Due To Dengue

जिला परिषद की साधारण सभा की बैठक:बैठक में खुली कई विभागों की पोल, जिले के कई स्कूल है जर्जर हालत में, विधायक आक्या ने दिए सभी स्कूल के सर्वे के आदेश, CMHO नहीं बता पाए डेंगू से हो रही मौत का रिकॉर्ड

चित्तौड़गढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला परिषद की साधारण सभा की बैठक में मौजूद जनप्रतिनिधि - Dainik Bhaskar
जिला परिषद की साधारण सभा की बैठक में मौजूद जनप्रतिनिधि

जिला परिषद की साधारण सभा की बैठक डीआरडीए हॉल में हुई, जहां कई विभागों की पोल खुलकर सामने आ गई। एक तरफ जहां बच्चों के लिए स्कूल खोलने के राज्य सरकार की ओर से आदेश जारी कर दिए गए वहीं कई स्कूल भवन क्षतिग्रस्त है। विधायक चंद्रभान सिंह आक्या ने पूरे जिले के सभी स्कूलों का सर्वे करने के लिए कहा। जो भवन जर्जर अवस्था में है, उनको जल्द से जल्द ठीक करने के लिए कहा गया। भूपालसागर प्रधान हेमेंद्र सिंह ने भूपालसागर उपखंड मुख्यालय के सरकारी स्कूल और मॉडल स्कूल की हालत के बारे में बताया। इस पर कलेक्टर ने भूपालसागर सरकारी स्कूल को नए तरीके से निर्माण करने की बात कही। मॉडल स्कूल में भी आ रही परेशानियों को लेकर जल्दी एक्शन लेने की बात कही। जिला परिषद की साधारण सभा की बैठक में जिला प्रमुख सुरेश चंद्र धाकड़ ने अध्यक्षता की। इस मौके पर जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा, चित्तौड़गढ़ विधायक चंद्रभान सिंह आक्या, कपासन विधायक अर्जुन लाल जीनगर, बड़ीसादड़ी विधायक ललित ओसवाल मौके पर मौजूद रहे। इसके अलावा सभी विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।

यह है जिले के स्कूलों का हाल

कलेक्टर ताराचंद मीणा ने विधायकों को कहा कि आप अपने-अपने क्षेत्र में कई पावर रखते हैं। जिले के 403 स्कूलों की चारदीवारी नहीं है और कई स्कूलों में नामांकन वृद्धि भी नहीं हो रही है, जिसके लिए अपने-अपने क्षेत्र में अगर जागरूकता का कार्यक्रम करें तो सही होगा। कलेक्टर ने बताया कि जिले में 167 विकलांग छात्र है, जिन्हें स्मार्टफोन भी दिलवाना है, उनका भी ध्यान रखना होगा। इसके अलावा सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में 350 स्मार्ट बोर्ड की जरूरत है। 195 स्कूलों में भी कंप्यूटर लैब की लगाना है।

आज़ादी से पहले के बने स्कूल का हो पुनः निर्माण

स्कूलों के भवन की जर्जर अवस्था के मुद्दे बैठक में छाए रहे। भूपालसागर प्रधान हेमेंद्र सिंह ने अपने उपखंड में सरकारी स्कूल की हालत बताई। उन्होंने कहा कि आजादी से पहले का बना यह भवन किसी भी समय गिर सकता है। ऐसे में बच्चों को बुलाकर उनकी जिंदगी के साथ भी खिलवाड़ करना उचित नहीं है, जिस पर कलेक्टर ने कहा कि भूपालसागर स्कूल को पुनः नए तरीके से निर्माण करवाया जाएगा।

भूपालसागर मॉडल स्कूल के प्रिंसिपल के खिलाफ जांच के आदेश

भूपालसागर प्रधान ने मॉडल स्कूल में पदस्थापित प्रिंसिपल की भी शिकायत की और कहा कि स्कूल मॉडल स्कूल होते हुए भी वहां नामांकन नहीं बढ़ रहा है। इसका मुख्य कारण वहां के प्रिंसिपल का बिहेवियर है। आए दिन वह छुट्टी पर रहते हैं और उनका व्यवहार भी बुरा है। मॉडल स्कूल में भी जो सुविधाएं होनी चाहिए वह स्कूल में सुविधा बच्चों को नहीं मिल पा रही है और अनियमितता से ग्रस्त है। कुछ दिन पहले बच्चों ने प्रधान को लिखित तौर पर शिकायत भी की थी। शिकायत पत्र में बच्चों ने गतिविधि मद का यूज़ नहीं करना, खेल सामग्री में वॉलीबॉल के अलावा किसी भी खेल को शामिल नहीं करना, जो फीस जमा की जाती है उसके बदले में रसीद नहीं देना, भौतिक सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं करवाना, प्रिंसिपल का कभी-कभी ही स्कूल में आना, लाइब्रेरी में किताबों का अभाव, लेबोरेटरी में इक्विपमेंट्स नहीं होना, ऐसे कई शिकायतें हैं जो बच्चों ने की है। विभाग ने इस पर एक्शन लेने की बात कही थी लेकिन आज दिन तक जांच की कार्रवाई नहीं हुई। इस पर प्रधान ने बैठक में अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों को जल्द से जल्द जांच के आदेश देने की बात कही। जिला कलेक्टर ने इस पर विभाग को जल्दी से जांच करने के आदेश दिए।

विधायक ने CMHO को डेंगू से हो रही मौतों का पूछा हिसाब

इसके अलावा बैठक में सीएमएचओ रामकेश गुर्जर को पंचायत लेवल पर डेंगू से बचाव के लिए पाउडर का छिड़काव करने की बात कही। इस पर राशमी क्षेत्र में बढ़ रहे डेंगू और स्क्रब टायफस के मामलों को लेकर कपासन विधायक अर्जुनलाल जीनगर ने नाराजगी भी जताई। वहीं यह भी बताया गया कि भूपालसागर में सबसे ज्यादा स्क्रब टायफस फैल रहा है। विधायक आक्या ने जब सीएमएचओ को पूछा कि डेंगू से अभी तक कितनी मौत हुई है? इस पर सीएमएचओ ने बताया कि जिले में तीन संदिग्ध की मौत हुई है। विधायक आक्या ने इस पर आपत्ति जताते हुए कहा कि 7 मौत तो केवल विधानसभा चित्तौड़गढ़ में ही हुई है। पूरे जिले में तो पता नहीं कितनी मौत हुई होगी। उनका रिकॉर्ड क्यों नहीं रखा गया। इस पर सीएमएचओ कुछ भी नहीं बोल पाए। विधायक आक्या ने बताया कि वह पर्सनली 7 जनों के घर गए थे और उनके रिपोर्ट भी चेक कर के आए वह सब डेंगू पॉजिटिव है और उनकी मौत हो चुकी है।

गहमा गहमी का हुआ माहौल

बिजली विभाग की लापरवाही को देखते हुए विधायक अर्जुन लाल जीनगर ने काफी गुस्सा किया और बिजली विभाग के अधिकारी के साथ गहमागहमी हो गई। अर्जुन लाल जीनगर का कहना है कि राशमी क्षेत्र में और कपासन क्षेत्र में बिजली विभाग के कर्मचारियों द्वारा कई लापरवाही की जा रही है। उससे लोगों के जान का भी खतरा है। इस पर अधिकारी ने कहा कि उनके पास कुछ शिकायतें आई है जिस पर जल्दी है एक्शन लिया जाएगा और यदि कर्मचारियों द्वारा कोई भी लापरवाही की जाती है तो उस पर भी पूरा एक्शन लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...