बहन की डिलीवरी का बहाना, पुलिस ने लगवाई उठक-बैठक:युवकों ने कहा- अस्पताल जाना है, बहन भर्ती है; पुलिस ने रिश्वतेदार को फोन लगाकर पूछा तो खुली पोल

चित्तौड़गढ़6 महीने पहले
बीच सड़क पर उठक-बैठक लगाते दोनों युवक।

राजस्थान में दूसरे राज्यों से निजी वाहन से आ रहे लोगों पर पाबंदियां जारी हैं। लेकिन बावजूद इसके कई लोग बहाने बनाकर बॉर्डर पार करने की कोशिश करते हैं। ऐसे लोगों के साथ पुलिस आमतौर पर समझाइश करती है। लेकिन अब मामला सख्ती बरतने की स्थिति तक पहुंच गया है। गुरुवार को चित्तौड़गढ़ जिले की जलिया चेक पोस्ट पर कुछ ऐसा ही नजारा दिखा। यहां बाइक सवार दो युवक अपनी बहन की डिलीवरी का बहाना करके मध्यप्रदेश से निंबाहेड़ा की ओर जा रहे थे। चेक पोस्ट पर तैनात कांस्टेबल ने जब पूछताछ की तो पाया कि दोनों युवक झूठ बोल रहे हैं। इस पर उन्हें बाइक से उतरकर उठक-बैठक लगाने के लिए कहा। यह नजारा देखकर कई लोग मौके से लौट गए। उन्होंने पुलिस वाले को बॉर्डर क्रॉस करने को भी नहीं कहा।

इमरजेंसी वालों को ही बार्डर क्रास करने की अनुमति

दरअसल, राज्य सरकार ने सभी बॉर्डर सील किए हुए हैं। इसमें निजी गाड़ियों से आने वाले लोगों को बॉर्डर पर ही रोका जा रहा है। जिनके पास मेडिकल इमरजेंसी प्रूफ या जरूरी काम की परमिशन होती है, उन्हें बॉर्डर क्रॉस करने दिया जा रहा है। ऐसे में दो युवक बाइक पर सवार होकर जलिया चेक पोस्ट पर पहुंचे। उन्हें कांस्टेबल भागचंद वैष्णव ने रोककर पूछताछ की तो पता चला कि दोनों मध्यप्रदेश के नीमच से आए थे। पूछताछ पर उन्होंने बताया कि वे दोनों निंबाहेड़ा सरकारी अस्पताल जा रहे हैं, जहां उनकी बहन की डिलीवरी हुई है।

पूछताछ में खुली पोल, कांस्टेबल ने लगवाई उठक-बैठक

युवकों ने जब बहन की डिलीवरी की बात कही तो कांस्टेबल को थोड़ा संदेह हुआ। कांस्टेबल ने तुरंत निंबाहेड़ा में मौजूद रिश्तेदारों से बात करवाने की बात कही। युवक ने जब फोन लगाया तो रिश्तेदार ने कहा, मुझे कुछ काम है। इसलिए बुलाया है। काम होते ही वापस भेज दूंगा। लेकिन कोई हॉस्पिटल नहीं जाना है।

इस पर कांस्टेबल ने दोनों युवकों को बाइक से उतरने के लिए कहा और सड़क किनारे ले जाकर उठक-बैठक लगवाई। उठक-बैठक के दौरान दोनों युवक लगातार कांस्टेबल से माफी मांग रहे थे। चेक पोस्ट पर अन्य कई लोग ऐसे भी पहुंचे थे, जिन्हें बेवजह बॉर्डर क्रॉस करना था। लेकिन उठक-बैठक लगाते युवकों को देखकर वे वापस लौट गए।

खबरें और भी हैं...