पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बड़ी उपलब्धि:सैनिक स्कूल में पढ़े मेवाड़ के सुनील डायरेक्टर जनरल एयर डिफेंस, इस पद पर पहुंचने वाले वे राजस्थान के पहले व्यक्ति

चित्तौड़गढ़/ उदयपुर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सुनिलपुरी गोस्वामी - Dainik Bhaskar
सुनिलपुरी गोस्वामी
  • लेफ्टिनेंट जनरल सुनीलपुरी गोस्वामी ने पद संभाला, एयरफोर्स-आर्मी की संयुक्त एयर डिफेंस कमांड का भी जिम्मा होगा

भारतीय सेना में मेवाड़ का फिर मान बढ़ा है। चित्तौड़गढ़ सैनिक स्कूल में पढ़कर अब भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट जनरल उदयपुर के सुनीलपुरी गोस्वामी को एयरफोर्स-आर्मी की संयुक्त एयर डिफेंस कमांड का डायरेक्टर जनरल नियुक्त किया है।

उदयपुर के हाथीपोल निवासी सुनील पुरी गोस्वामी डायरेक्टर जनरल एयर डिफेंस पद पर पहुंचने वाले राजस्थान के पहले व्यक्ति हैं। गोस्वामी ने 30 जून को लेफ्टिनेंट जनरल एपी सिंह की सेवानिवृत्ति के यह पद ग्रहण किया। वे हवाई ब्रांच के 13वें महानिदेशक हैं।

उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार एयरफोर्स और आर्मी की संयुक्त एयर डिफेंस कमांड बनाने के लिए जमीनी स्तर पर काम कर रही है। ऐसे समय में गोस्वामी का डायरेक्टर जनरल एयर डिफेंस बनना बेहद अहम है। संयुक्त एयर डिफेंस कमांड बनते ही उनके कंधों पर जमीन और हवाई स्तर तक बेहतर तालमेल बैठाने का जिम्मा रहेगा। सुनीलपुरी 1980 में चित्तौड़गढ़ सैनिक स्कूल से पास आउट गत समय सैनिक स्कूल के विद्यार्थी रहे सुरेंद्र इंदौरिया भी वायु सेना में एयर मार्शल बने हैं।

श्रीलंका में शांति सेना का जिम्मा हो या बोत्सवाना में प्रशिक्षण दल के सदस्य, हर जगह खरे उतरे...सुनील पुरी गोस्वामी के मित्र उदयपुर निवासी डॉ. नीरव हिंगड़ बताते हैं कि उनका रुझान बचपन से ही देशसेवा का रहा है। हमने एक निजी स्कूल में साथ पढ़ाई की। मेरे पिता मुझे डॉक्टर बनाने के लिए प्रेरित करते थे तो गोस्वामी मुझे सेना में चलने के लिए। सेना में जाने का जुनून ही था कि उन्होंने सैनिक स्कूल में पढ़ाई के बाद एनडीए पूणे और भारतीय सैन्य अकादमी देहरादून में भी पढ़ाई की।

गोस्वामी को 1984 में कमीशन दिया था। उन्होंने एडी मिसाइल रेजिमेंट और स्ट्राइक कोर में स्वतंत्र वायु रक्षा ब्रिगेड और श्रीलंका में भारतीय शांति सेना की स्वतंत्र वायु रक्षा टुकड़ी की कमान भी संभाली। भारतीय सेना प्रशिक्षण दल के रूप में बोत्सवाना में सेवा दी।

एयर डिफेंस यूनिट्स को हर समय मुस्तैद रखना ही डायरेक्टर जनरल की जिम्मेदारी

सुनील भारतीय सेना में मेवाड़ के दूसरे बड़े गौरव हैं। पहले उदयपुर के एनके सिंह 2009 में लेफ्टिनेंट जनरल बने थे। सिंह बताते हैं कि डायरेक्टर जनरल एयर डिफेंस की जिम्मेदारी एयर डिफेंस यूनिट्स को हर वक्त-हर तरह से मुस्तैद रखने की है।

केंद्र सरकार एयरफोर्स और आर्मी के बीच बेहतर तालमेल बनाने के लिए एयरफोर्स और आर्मी की एक संयुक्त एयर डिफेंस कमांड बनाने पर मंथन कर रही है। ऐसे में डायरेक्टर जनरल एयर डिफेंस की जिम्मेदारी और प्रभावी हो जाती है, क्योंकि उन्हें कई योजनाएं तैयार करनी होंगी।

एयरफोर्स के एयरक्राफ्ट और मिसाइलों के साथ को-ऑर्डिनेशन कर हवाई सुरक्षा को और मजबूत करना होगा। हवाई सुरक्षा का महत्व और भी बढ़ गया है। इसका जीवंत उदाहरण हाल में इजराइल और फिलिस्तीन के बीच युद्ध में देखने को मिला था। फिलिस्तीन की तरफ से हजारों मिसाइल दागी गई थीं और इजराइल ने उन्हें हवा में ही नष्ट कर दिया था।