पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसान अफवाह से बचें:अफीम के पट्टे की चाहत में पहुंचे किसानाें काे पुलिस ने समझाकर घर रवाना किया

चित्तौड़गढ़17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नारकोटिक्स विभाग ने फिर कहा- नए अफीम लाइसेंस जारी करने का निर्णय नहीं, किसान अफवाह से बचें

केंद्रीय नारकोटिक्स विभाग ने साफ तौर पर कहा कि नए अफीम लाइसेंस के जारी करने के संबंध में कोई निर्णय नहीं हुआ है और न ही सीपीएस मेथर्ड पर अफीम खेती के संबंध में कोई आवेदन नहीं लिए जा रहे हैं। दूसरी ओर बुधवार सुबह भी कई क्षेत्रों से किसान जिला मुख्यालय पर पहुंचने लगे तो पुलिस जाब्ते ने समझाइश कर किसानों को घर रवाना किया। पुलिस टीम ने एलाउंस कर किसानों से अफवाह से बचने के लिए सचेत भी किया।

उल्लेखनीय है कि बीते एक सप्ताह से अफीम किसान इस अफवाह के चक्कर में आ रहे हैं कि केंद्र सरकार अफीम खेती के लिए नए पटटे जारी कर रही है। इसे देखते हुए जिला मुख्यालय पर बडी संख्या में किसान पहुंच कर आवेदन करने के लिए रूपए खर्च करते हुए डाकघर के जरिये स्पीड पोस्ट से आवेदन भेज रहे थे।

इस बीच इस स्थिति के बारे में जब केंद्रीय नारकोटिक्स विभाग को भी पता चला तो डीएनसी ने इस बारे में स्थिति स्पष्ट की। उपनारकोटिक्स आयुक्त कोटा विकास जोशी ने स्पष्ट किया कि किसानों से 50 से 500 रूपए तक लिए जा रहे हैं, जबकि इस संबंध में इस कार्यालय से अभी किसी प्रकार के आवेदन पत्र न तो छपवाए हैं और न ही जारी किए गए हैं। किसान अफीम के नए लाइसेंस व सीपीएस पद्वति से संबंधित किसी के बहकावे में न आएं।

मुख्य डाकघर में भी चार बार बुलाया था जाब्ता इधर शहर के मुख्य डाकघर में भी मंगलवार तक किसानों की भारी भीड़ उमडने के कारण अफरा तफरी का माहौल हो गया। मंगलवार को तो भारी भीड होने के बाद अफरा तफरी होने लगी और पोस्ट आफिस में स्टाफ भी परेशान हाेने लगा। मजबूरन पोस्ट मास्टर को चार बार कोतवाली पुलिस को सूचित कर जाब्ता मंगवाना पडा। हालांकि पुलिस जाब्ते ने पहुंच कर स्थिति को नियंत्रित कर दिया।
हम मांग करेंगे नए पट्टे भी दें भारतीय अफीम किसान विकास समिति के अध्यक्ष रामनारायण झाझरिया ने भी कहा कि जो अफवाह फैला रहे हैं किसान उनके झांसे में नहीं आए। भारतीय अफीम किसान विकास समिति तो सात साल से रुके हुए पट्टे की बहाली की मांग कर रही है। अब नई मांग नए पट्टे देने की मांग रखी है। मांग करना हमारा अधिकार है

खबरें और भी हैं...