खुदकुशी:बुजुर्ग ने गंभीरी नदी में लगाई छलांग, दाे युवकाें ने 400 मीटर तैरकर निकाला लेकिन तब तक हाे चुकी थी माैत

चित्तौड़गढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर के महाराणा प्रताप सेतु मार्ग पर बुधवार काे एक बुजुर्ग ने नदी में कूदकर खुदकुशी कर ली। बुजुर्ग ने ऐसा क्याें किया इसका अभी खुलासा नहीं हाे पाया है। कुछ युवकाें ने बुजुर्ग काे ऐसा करते देखकर गंभीरी नदी में छलांग लगाई और पानी में करीब चार सौ मीटर तैरकर उसे बाहर निकाला और अस्पताल पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने बुजुर्ग काे मृत घोषित कर दिया।

प्रतापनगर डाइट रोड सुभाष काॅलोनी निवासी रेल्वे डाक विभाग से रिटायर्ड कर्मचारी 71 वर्षीय लक्ष्मीनारायण पुत्र फूलचंद वाल्मीकि बुधवार दोपहर महाराणा प्रताप नई पुलिया पर पैदल पहुंचा। पुलिया के बीच पुल के ऊपर ही जूते खोले, इधर-उधर देखा और नदी में छंलाग लगा दी।

प्रत्यक्षदर्शी गांधीनगर कच्ची बस्ती निवासी सूरज पुत्र नागूलाल लक्षकार ने इस बात की सूचना पुलिस को दी। पुलिया पर जूते खुले देख लोगों की भीड़ जमा हो गई। मौके पर कोतवाली सीआई तुलसीराम मय जाब्ता पहुंचे। कुछ देर बाद मोक्षधाम बस स्टैंड के पास रहने वाले 29 वर्षीय राज पुत्र मोहन लाल भील व गांधीनगर कच्ची बस्ती निवासी खालीद हुसैन लौहार ने नदी में बुजुर्ग बहता हुआ दिखा।

इस पर दोनों नदी में कूद गए और बुजुर्ग को बाहर निकाल कर लाए। लोगों ने बताया कि बाहर निकालते समय बुजुर्ग की सांसें चल रही थी। बुजुर्ग को सांवलियाजी चिकित्सालय ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। शव को मोर्चरी में रखवाया गया है। डिप्टी मनीष शर्मा भी मौके पर पहुंचे।

सूचना के बाद सिविल डिफेंस के गोताखोर भी नदी पर पहुंचे। कोतवाली थाने के एएसआई नवलराम ने बताया कि मृतक की पहचान रेल्वे डाक विभाग से रिटायर्ड कर्मचारी होकर प्रतापनगर डाइट रोड सुभाष काॅलोनी निवासी 71 वर्षीय लक्ष्मीनारायण पुत्र फूलचंद वाल्मीकि के रूप में हुई। इधर, परिजनों ने बताया कि लक्ष्मीनारायण खरड़ेश्वर महादेव मंदिर दर्शन करने जाते थे। पुलिया पर पैर फिसलने से नदी में गिर गए।

जान की बाजी लगाकर कूदकर गए दोनों

एकबारगी पुलिस भी यह सुनिश्चित नहीं कर पाई कि कोई नदी में कूदा है। नदी में कूदने की पुष्टी होने में करीब एक-आधा घंटा लगा होगा। बाद में गोताखोर व पुलिस पहुंची। इससे पहले ही राज भील व खालिद हुसैन ने नदी में करीब 400 मीटर तैरकर बुजुर्ग को बाहर निकाल कर लाए।

खबरें और भी हैं...