लुटेरी दुल्हन और उसकी साथी गिरफ्तार:फर्जी शादी कर ढाई लाख रुपए लूट कर ले गई थी, वाराणसी से पकड़ी गई

चित्तौड़गढ़16 दिन पहले

चित्तौड़ में एक बार फिर शादी के नाम पर ठगी का मामला सामने आया है। पांच महीने पहले एक युवती फर्जी शादी के नाम पर युवक से ढाई लाख रुपए ऐंठ लिए थे। यह मामला राशमी थाना क्षेत्र का है। इस मामले में शामिल कई लोग पहले ही गिरफ्तार हो चुके थे, लेकिन लुटेरी दुल्हन और उसकी कथित तौर पर मौसी को वाराणसी से डिटेन किया। जिसे आज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

वाराणसी में रह रही थी लुटेरी दुल्हन

थानाधिकारी शिवलाल मीणा ने बताया कि लुटेरी दुल्हन पूजा पटेल ( 23) निवासी उत्तर प्रदेश के भाग जाने के बाद जब उसकी तलाश शुरू की तो पता चला कि पूजा ने यह एड्रेस गलत लिखवाया हुआ था। इस पर एक अलग टीम का गठन किया गया। फिर पता चला कि पूजा सोनभद्र जिले की रहने वाली है और हाल में वाराणसी में रह रही है। पुलिस की टीम वाराणसी पहुंची और पूजा को डिटेन कर लिया। पूजा के बताए हिसाब से उसकी मासी पूजा उर्फ जया देवी (47) यूपी उसके घर से डिटेन कर राशमी लेकर आए। यह दोनों से जब सख्ती से पूछताछ की गई तो दोनों ने यह काम करना स्वीकार किया।

शादी के लिए पूजा के साथियों को दिए थे ढाई लाख रुपए

थानाधिकारी शिवलाल मीणा ने बताया कि मामला जुलाई महीने के 22 तारीख को दर्ज किया गया था। राशमी निवासी ओकेश कुमार पुत्र रामदयाल शर्मा ने रिपोर्ट में बताया था कि 4 महीने पहले कंचन देवी शर्मा और श्याम सुंदर शर्मा निवासी जयपुर हाल भीलवाड़ा ने ओकेश के मामा रोशन लाल को फोन करके शादी का प्रस्ताव दिया था। मामा ने जब ओकेश कुमार को लड़की का फोटो दिखाया तो उसने हां कर दी थी। इस दौरान मामा रोशन लाल ने ओकेश को बताया कि पूजा काफी गरीब परिवार की है इसलिए उसका शादी का खर्चा उसको ही करना होगा। शादी तय होने के बाद कंचन देवी और श्याम सुंदर ने राशमी आकर रिश्ता पक्का कर गए और साथ में ढाई लाख रुपए भी ले गए। इसके बाद 13 जुलाई को कंचन और श्याम सुंदर ने ओकेश को अजमेर बुलाया और वहां पर कोर्ट मैरिज करवाई। फिर दोनों राशमी आ गए।

पूरा परिवार गया था शादी में, पति को बेहोश कर भागी लुटेरी दुल्हन

17 जुलाई को ओकेश के मामा के लड़के की शादी में पूरा परिवार वहां गया हुआ था। इस दौरान पूजा और ओकेश दोनों अकेले थे। करीब शाम 6 बजे पूजा ने चाय में बेहोशी की दवा मिलाकर ओकेश को पिलाई जिससे ओकेश बेहोश हो गया। उसके बाद पूजा घर के कीमती सामान लेकर भाग निकले। मामले की रिपोर्ट के बाद 23 जुलाई को ही श्याम सुंदर, कंचन देवी को गिरफ्तार कर लिया गया। दोनों अभी जेल में है। पूछताछ के दौरान पूजा ने बताया था कि कंचन देवी से वह ट्रेन में मिली थी। जहां कंचन देवी ने उसे अपनी बातों में फंसा कर उसके साथ मिलकर यह ठगी का प्लान बनाया।