मेनाल-आरोली टोल हत्या मामला:नशे की बात को लेकर हुई थी बहस, सिर पर पत्थर से किया था वार, दोस्त गिरफ्तार

चित्तौड़गढ़8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी छोटूसिंह। - Dainik Bhaskar
आरोपी छोटूसिंह।

जिले के बेगूं क्षेत्र के मेनाल-आरोली टोल के पास हुई हत्या के मामले में पुलिस ने मृतक के दोस्त को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी और मृतक दोनों नशे में थे और इस दौरान एक मामूली सी बहस होने पर बात बिगड़ गई। आरोपी ने पास में रखे पत्थर से मृतक के सिर पर वार कर दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

जिले के बेगूं क्षेत्र के मेनाल-आरोली टोल के पास जंगल में रावड़दा निवासी पप्पू राम पुत्र रूप दास वैष्णव उम्र 45 साल की लाश पड़ी हुई मिली थी। मृतक मंगलवार सुबह अपने घर से अपने साथी के साथ निकला था, जिसके बाद वह घर नहीं आया। लाश के पास शराब और स्मेक की पुड़िया पड़ी हुई मिली थी। पुलिस ने उसके दोस्त छोटूसिंह को उसी दिन डिटेन कर लिया था। लेकिन पूछताछ के दौरान अन्य व्यक्ति की शंका होने पर मामले का खुलासा नहीं हो पाया।

नशे करने की बात पर हुई थी बहस

DYSP रतना देवासी ने बताया कि दोनों एक साथ गए थे और नशा कर रहे थे। इसी दौरान पप्पू ने और भी शराब लाने के लिए कहा लेकिन छोटू सिंह ने पैसे नहीं होने की बात कही। इसी बात पर बहस बढ़ी। बहस बढ़ने से छोटू सिंह ने पास में ही रखें पत्थर से पप्पू सिंह के सिर पर वार किया। जिससे पप्पू सिंह की मौके पर ही मौत हो गई। छोटू सिंह ने हत्या के बाद उसके परिवार को शव के पड़े होने की जानकारी दी। देर रात तक पुलिस ने फरार आरोपी को डिटेन कर लिया था।

तीसरे के होने का था शक, सीसीटीवी कैमरा खंगाला तो स्पष्ट हुई स्थिति

DYSP देवासी ने बताया कि पहले किसी तीसरे के भी शामिल होने का शक था। दोनों के साथ कोई तीसरा भी गया था लेकिन हाईवे के सारे सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। इनके साथ जो तीसरा व्यक्ति था, वह पहले ही उतर चुका था। जंगल की तरफ यह दोनों ही साथ में गए थे। जब सब मामला स्पष्ट हुआ तो आरोपी छोटू सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया। दोनों मेनाल के पास ही पत्थर की खान पर काम करते थे। पप्पू सिंह लोडर चालक था जबकि छोटू सिंह कारीगर है।