पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जल संकट:शहर में अभी पांच दिन और रोज मिलेगा पानी, पांतरे जलापूर्ति आज से नहीं, एक मार्च से संभव, इससे 25 फीसदी पानी बचाएंगे

चित्ताैड़गढ़2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नई व्यवस्था में पांतरे 300 लाख लीटर पानी की सप्लाई होगी, जो अभी प्रतिदिन 200 लाख लीटर होती है

घर के नल से प्रतिदिन पानी भरने काे लेकर आप फिलहाल पांच दिन और सुकून पाले। शहर में बुधवार यानी 24 मार्च से लागू होने वाली पांतरे जलापूर्ति व्यवस्था फिलहाल पांच दिन तो और टल गई है। अब यह 28 फरवरी या एक मार्च से लागू हो सकती है। जलदाय विभाग की जिला प्रशासन से पूरे प्लान पर चर्चा हाेना बाकी है। नई व्यवस्था में पांतरे यानी हर दो दिन में 300 लाख लीटर पानी की सप्लाई होगी। जो अभी प्रतिदिन 200 लाख लीटर होती है। यानी इससे विभाग को 25 प्रतिशत पानी की बचत होगी।

इस बार कमजोर मानसून से जलस्त्रोतों में पानी की कमी से परेशान पीएचईडी करीब डेढ़ महीने से कार्ययाेजना बनाने में जुटा है। प्रतिदिन की बजाय पांतरे जलापूर्ति करने को लेकर पसोपेस में भी है। पहले उसने जनवरी के आखिरी सप्ताह में ही पांतरे जलापूर्ति शुरू करने का निर्णय ले लिया था। सत्तासीन जनप्रतिनिधियाें के हस्तक्षेप से प्लान लागू नहीं हाे पाया। फिर इसे 24 फरवरी से लागू करने का एलान किया। जब भास्कर ने विभाग की तैयारी टटोली तो पता चला कि अभी व्यवस्था पूर्ववत ही रहेगी।

अधिकारियों का कहना है कि जिला प्रशासन से चर्चा हाेना बाकी है। अंदरखाने की बात यह है कि प्रशासन ने भी अभी कुछ दिन और रुकने का इशारा किया। इसकी एक वजह 27 को जिले में सीएम की प्रस्तावित विजिट भी हो सकती है।

पांतरे जलापूर्ति के लिए शहर काे दाे भागाें में बांटा, ऐसे मिलेगा 60 वार्डाें काे पानी

पहले दिन: यहां हाेगी जलापूर्ति
दुर्ग पर बिरला धर्मशाला व तुलजा भवानी मंदिर क्षेत्र, बूंदी रोड, नाडोलिया, गांधीनगर हुडको काॅलोनी टंकी, विद्या निकेतन टंकी, सेक्टर नं. 4 टंकी एवं जीएलआर, बागलिया, महेश वाटिका, भगतसिंह पार्क, न्यू क्लाॅथ मार्केट-महावीर काॅलोनी, नीलगरों की मस्जिद, लखारीघाटी, हसमत काॅलोनी, मीरानगरी, नगर पालिका काॅलोनी, चन्देरिया वार्ड संख्या 3, 4, वार्ड संख्या 8 रामदेवजी का चन्देरिया, रामदेवजी का चन्देरिया नई आबादी, गवारिया मौहल्ला टंकी, कीर मौहल्ला, कीरखेडा, कबीर काॅलोनी, कैलाश नगर, महर्षि दाधीच नगर, प्रतापनगर तेजाजी चैक एवं डाईट रोड, मीठाराम जी का खेडा, मधुवन जोन, सेंती धाकड़ मौहल्ला, तिलक नगर टंकी एवं डाईरेक्ट सप्लाई, सेगवा हाउसिंग बोर्ड फेज-ााा में होगी।

दूसरे दिन: यहां हाेगी जलापूर्ति
गांधीनगर हाउसिंग बोर्ड, गांधीनगर सेक्टर न. 2, शमशान घाट, गौशाला एवं आकाशवाणी रोड, जौहर भवन, गर्ल्स काॅलेज रोड, दुर्ग पर अन्नपूर्णा मंदिर, सालवी मौहल्ला, शादी चौक, रतनसिंह महल, मेहता मोहल्ला, बिरला धर्मशाला, चारभुजा मंदिर, महाजन मोहल्ला, कुमावत मौहल्ला, पुराना शहर में उपरलापाड़ा, मिठाई बाजार, सुराणा मोहल्ला, गांधीचौक सदर बाजार, लक्ष्मीनारायण मंदिर, किला रोड, सुभाष चौक, राणासांगा मार्केट, बोहरा मस्जिद, सुनारों का मोहल्ला, शेख मोहल्ला, बापू बस्ती, चम्पागली, चंदनपुरा, सागर कुंड, सब्जी मंडी, कुम्हारपाड़ा, लोकप्रिय गली, बाहेतियों की गली, बलाइयों की कुंई, पुरानी सब्जी मंडी, छीपा मोहल्ला, प्रजापत मार्केट, विष्णु टाॅकीज, दिल्ली गेट, बागलिया क्षेत्र, मजिस्ट्रेट काॅलोनी, भगत सिंह पार्क, कस्बा चौकी, जूना बाजार, ढोली मोहल्ला, कुमावत मोहल्ला, खटीक मोहल्ला, शास्त्रीनगर, चंदेरिया वार्ड संख्या 1 व 2, रामदेवजी का चन्देरिया वार्ड संख्या 7, चंदेरिया रंगा स्वामी बस्ती, गणपति नगर, शिवनगर कच्ची बस्ती, आश्रम क्षेत्र, जाटों का मोहल्ला, भोई खेडा, संगम रोड, श्यामाप्रसाद मुखर्जी नगर एवं चामटीखेडा, कुंभानगर हाउसिंग बोर्ड एवं मार्केट जोन, प्रतापनगर मार्केट जोन एवं सरकारी क्वार्टर, सिंधी काॅलोनी एवं प्रतापनगर हाउसिंग बोर्ड, नेहरू नगर स्टेशन क्षेत्र, सेंती पंचवटी जोन, सेगवा हाउसिंग बोर्ड फेज प्रथम एवं द्वितीय, महेशपुरम, विजय काॅलोनी।

घाेसुंडा बांध से 150 लाख की जगह 90 लाख लीटर पानी ही मिल रहा है, इसलिए लेना पड़ा यह निर्णय, विभाग सर्दी से ही पानी बचाने के मूड में था
करीब डेढ़ लाख की आबादी वाले शहर में करीब 18 हजार नल कनेक्शन हैं। प्रतिदिन 200 लाख लीटर की सप्लाई होती है। मुख्य स्त्राेत घाेसुंडा बांध से 150 लाख लीटर पानी लेते थे। पानी कम रहने से अब 90 लाख लीटर ही ले रहे है। उसका वाटरलेवल गिरने से जलदाय विभाग तो जनवरी आखिर से ही पांतरे जलापूर्ति लागू करने के मूड में था।

उसका मानना था कि सर्दियों में पानी की जरूरत कम रहने से लोगों को कमी नहीं अखरेगी। गर्मियों के लिए पानी बचेगा और लोगों को पांतरे पानी भरने की आदत पड़ जाएगी। गत साल फरवरी में घाेसुंडा डेम का वाटर लेवल 422.50 आरएल था, जाे वर्तमान में 416.50 आरएल है। शहर को अभी रोज नलकूपों से 30 लाख लीटर और वागलिया एनिकट से 10 लाख लीटर पानी मिल रहा है। भेरड़ा माइंस से सामान्य दिनों में 65 लाख लीटर लेते हैं। वर्तमान में 70 लाख लीटर ले रहे।

इस तरह करेगा जलदाय विभाग पानी की बचत
शहर में प्रतिदिन 200 लाख लीटर पानी सप्लाई हाेता है। पांतरे व्यवस्था में दाे दिन मिलाकर कुल 300 लीटर पानी सप्लाई किया जाएगा। शहर के एक भाग काे 150 लाख लीटर पानी सप्लाई हाेगा। यानी 25 प्रतिशत पानी की सेविंग हो सकेंगी।विभागीय सूत्रों के अनुसार घाेसुंडा बांध से हिंदुस्तान जिंक काे पहले प्रतिदिन करीब 350 लाख लीटर पानी मिलता था। अब केवल 50 लाख लीटर ही ले रहे है।

शहर में पांतरे जलापूर्ति 24 फरवरी से लागू करने की तैयारी थीं। फिलहाल इसे कुछ दिन और स्थगित कर दिया है। जिला प्रशासन से इस संबंध में चर्चा हाेना बाकी है। कलेक्टर के आदेश के बाद प्लान लागू हाेगा। संभावना है कि इसी महीने के अंत या मार्च की शुरुआत में लागू करें।
-सुनीत गुप्ता, एसई, जलदाय विभाग, चित्ताैड़गढ़

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें