टक्कर के बाद ट्रक के आगे गिरी टीचर, बच गई:ट्रक से टकराई स्कूटी, ब्रेक लगाने में 1 सेकेंड की देरी होती तो जा सकती थी जान

चित्तौड़गढ़9 दिन पहले

कहते हैं जाको राखे साइयां, मार सके न कोय। बिल्कुल ऐसा ही चित्तौड़गढ़ की एक महिला के साथ हुआ है। बरसात के बीच स्कूटी से स्कूल जा रही महिला टीचर ट्रक ने टक्कर मार दी और वे ट्रक के नीचे आते-आते बची। कुछ देर तक उन्हें ऐसा लगा, जैसे मौत छूकर निकल गई। दरअसल, ट्रक ड्राइवर ने समय रहते ब्रेक दबा दिया था। घटना का एक वीडियो भी सामने आया है।

ट्रक से टकराने से स्कूटी ट्रक के नीचे दब गई, लेकिन महिला बाल-बाल बच गई।
ट्रक से टकराने से स्कूटी ट्रक के नीचे दब गई, लेकिन महिला बाल-बाल बच गई।

चित्तौड़गढ़ में गुरुवार सुबह तेज बारिश हो रही थी। स्कूल टीचर रुखसार स्कूटी से रावतभाटा से जावरा गांव में अपने स्कूल जा रही थी। कोटा बैरियर सर्किल के पास बजरी लेकर एक ट्रक आ रहा था। महिला पुराना बाजार पर सर्किल पार कर रही थी। इस दौरान अचानक ट्रक ने टक्कर मार दी। महिला स्कूटी सहित सड़क पर गिर गई। ड्राइवर ने समय रहते ब्रेक लगा दिया। स्कूटी ट्रक के नीचे फंसने से थोड़ी दूर तक घिसटते हुए गई। ट्रक के रुकते ही टीचर खड़ी हो गई। उसे किसी भी तरह की चोट नहीं लगी। हादसे के बाद मौके पर भीड़ एकत्रित हो गई। दोनों पक्ष में राजीनामा हो गया और पुलिस तक मामला नहीं पहुंचा। बाजार में एक दुकान में लगे सीसीटीवी में यह घटना कैद हो गई।

पति छोड़ने जाते स्कूल,कल अकेली गई
महिला टीचर रुखसार (27) ने बताया कि वह जावरा राजकीय उच्च प्राथमिक स्कूल में अंग्रेजी में पढ़ाती है। हर दिन पति अलीम खान ही स्कूल छोड़ते थे। कल वह अकेली स्कूटी पर जा रही थी। कोटा बैरियर सर्किल पर अचानक ट्रक ने टक्कर मार दी। थोड़ी देर तो कुछ समझ नहीं आया। खुद को संभाला और हिम्मत रखी। भागकर अपनी जान बचाई। जैसे-तैसे स्कूल गई। छुट्‌टी के बाद पति को फोन कर हादसे के बारे में बताया। डर इतना बैठ गया कि, अकेले स्कूटी से जाने की हिम्मत नहीं हुई। पति स्कूल आए और लेकर गए। महिला ने बताया कि पति कोटा में काम करते है। काम पर जाने से पहले स्कूल छोड़ते है। महिला ने बताया कि मन में डर बैठ गया है।

कंटेंट, फोटो, वीडियो - दिलीप वाधवा, रावतभाटा