• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bhilwara
  • Gulabpura
  • As The Commotion For Urea Increased, The Committees Hung A Placard There Is No Fertilizer Yet, Most Of The Places Have Not Yet Reached The Manure, Where It Came, There Is Stock.

यूरिया संकट:यूरिया के लिए हंगामा बढ़ा ताे समितियों ने तख्ती लटकाई-अभी खाद नहीं है, ज्यादातर जगह अब तक खाद पहुंचा ही नहीं, जहां आया वहां स्टाॅक

गुलाबपुराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुलाबपुरा क्रय-विक्रय सहकारी समिति में यूरिया खाद नहीं हाेने संबंधी तख्तियां लगाई। - Dainik Bhaskar
गुलाबपुरा क्रय-विक्रय सहकारी समिति में यूरिया खाद नहीं हाेने संबंधी तख्तियां लगाई।
  • हुरड़ा क्षेत्र में 19 सहकारी समितियां, सिर्फ खेजड़ी में ही आया था यूरिया, आधार कार्ड दिखाने पर दे रहे खाद

किसानों को यूरिया नहीं मिल रहा है क्योंकि ग्राम सेवा सहकारी समितियों में डिमांड के अनुसार खाद नहीं पहुंचा है। ज्यादातर समितियों में अब तक एक बार भी सप्लाई नहीं पहुंची। जिन समितियों में खाद आया वहां कुछ ही घंटों में खत्म हो गया। अब स्टॉक निल हो गया। खाद आने की सूचना मिलते ही समितियों के बाहर सुबह से लंबी कतारें लग जाती है। हंगामा और अफरा-तफरी देख अब ग्राम सेवा सहकारी समितियों ने गेट पर खाद नहीं है लिखी तख्तियां लटकाना शुरू कर दिया है। केवीएसएस गुलाबपुरा क्षेत्र में 19 सहकारी समितियां हैं। खेजड़ी ग्राम सहकारी समिति को छोड़कर इस बार किसी भी समिति में यूरिया खाद नहीं आया है।

गुलाबपुरा क्रय-विक्रय सहकारी समिति में यूरिया की 300 मैट्रीक टन की मांग है। अब तक केवल 1160 कट्टे आए हैं। समिति के व्यवस्थापक श्याम शर्मा ने बताया कि यूरिया खाद की मांग भेजी है। इंतजार कर रहे है‌‌। किसानों की सुविधा के लिए समिति के गेट पर तख्ती लगाकर लिखा गया कि यूरिया खाद नहीं है। हुरड़ा ग्रामीण क्षेत्र में 19 में से सिर्फ खेजड़ी सहकारी समिति में खाद आया। अब यहां स्टॉक में खाद नहीं है। कोटड़ी ग्राम सेवा सहकारी समिति अध्यक्ष नोरत पारीक ने बताया कि समितियों में इस बार अब तक खाद नहीं पहुंचा। किसानों को परेशान होना पड़ रहा है।

मांडलगढ़ 36 समितियों में 80 हजार बैग यूरिया चाहिए, 5 समितियों में सिर्फ 920 कट्‌टे पहुंचे...मांडलगढ़

तहसील में 36 सहकारी समितियां हैं। कुल 80 हजार यूरिया बैग की आवश्यकता है, जबकि अब तक 36 सहकारी समिति में से सिर्फ 5 समितियों में यूरिया के 920 बैग आए हैं। मांडलगढ़ सहकारी समिति में अब तक दो ट्रक 920 बैग खाद लेकर पहुंचे। यह खाद वितरित कर दिया है। मांडलगढ़ सहकारी समिति में 2000 बैग की आवश्यकता है। सहकारी समितियों में आधार कार्ड पर यूरिया दिया जा रहा है। एक कार्ड पर एक बैग दिया जा रहा है।

बनेड़ा 700 टन यूरिया चाहिए, सात दिन सप्लाई नहीं मिली...बनेड़ा

यूरिया खाद उपलब्ध नहीं होने से किसानों को भटकना पड़ रहा है। क्रय-विक्रय सहकारी समिति एवं ग्राम सेवा सहकारी समितियों द्वारा मिलने वाला यूरिया पर्याप्त नहीं है। क्रय-विक्रय सहकारी समिति के मैनेजर कुशल सिंह बूलिया ने बताया कि तहसील क्षेत्र में करीब 700 टन यूरिया खाद की आवश्यकता है। एक सप्ताह से भी अधिक समय से खाद नहीं मिल रहा है। कुछ दिन में यूरिया की रैक लगने की संभावना है। रैक चितौड़गढ़ की लगती है या भीलवाड़ा यह तो बाद में पता लगेगा। उसमें भी कितना खाद मिल पाएगा यह अभी कहा नहीं जा सकता है।

हुरड़ा तहसील क्षेत्र में 20755 हैक्टेयर में बुआई हुई है। जबकि लक्ष्य 22 हजार 500 था। गेहूं की बुआई 5-10 दिन और होने की संभावना है। बुआई के आधार पर 350 मैट्रीक टन यूरिया की आवश्यकता है। 80 मैट्रीक टन खाद ही पहुंचा है। खाद नहीं होने से किसान बैरंग लौट रहे हैं। ‌ उषा मीणा, कृषि अधिकारी, गुलाबपुरा

जहाजपुर 38 सहकारी समितियां, सिर्फ 3 में आया 750 कट्टे खाद

सहकारी समिति के ऋण पर्यवेक्षक महावीर गुर्जर ने बताया कि जहाजपुर क्षेत्र में 38 सहकारी समितियां हैं। जिनमें यूरिया खाद मात्र तीन समितियों में 750 कट्टे आया। खजूरी, भगुनगर व पंडेर में 250-250 कट्टे आए, जबकि अकेले खजूरी सहकारी समिति से ही 5000 कट्टों की डिमांड भेज रखी है। अन्य समितियों से भी डिमांड भेज रखी है। आगे से सप्लाई नहीं मिल रही है। गत दिनों में शक्करगढ़ और खजूरी में निजी लाइसेंस धारी खाद व्यापारी के यहां खाद आया था। किसानों को घंटों लाइन में लगने पर एक कट्टा खाद ही मिला।

खाद के कट्‌टे की दर 267.50 रुपए तय, 300 मीट्रिक टन खाद आ चुका

शाहपुरा|कृषि अधिकारी रज्जाक मोहम्मद ने बताया कि क्षेत्र में एक केवीएसएस, 40 जीएसएस तथा निजी दुकानाें से खाद वितरण कराया जा रहा है। जहां भी खाद वितरण होता है वहां कृषि विभाग का प्रतिनिधि मौजूद रहता है। अब तक 300 मैट्रिक टन खाद मंगाकर वितरित कर दिया। जबकि करीब 400 मैट्रिक टन की और आवश्यकता है। सोमवार को खाद की एक रैक आई। खाद वितरित कराया गया। खाद का मूल्य प्रति बैग 267.50 रुपए हैं।

खबरें और भी हैं...