पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चिंताजनक:चरागाह में भूख से मरे पैंथर का शव मिला अब जिले में 6 ही, सेंचुरी बने ताे बचा सकेंगे

करेड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दाे सप्ताह में दाे पैंथर भूख के कारण मर चुके, एक शिकारी के फंदे में फंसा

करेड़ा वनक्षेत्र में शुक्रवार सुबह फिर एक दाे साल की मादा पैंथर पैंथर का शव मिला। पोस्टमार्टम के बाद इसका दाह किया। जिले में एक पखवाड़े में दाे पैंथर भूखे मरे। बिजाैलिया के पास एक पैंथर शिकारी के फंदे में फंस गया। गनीमत रही कि ग्रामीण ने समय पर वनविभाग काे सूचना देकर इसे बचा लिया। करेड़ा वनपाल शांतिलाल पारीक ने बताया कि ज्ञानगढ़ पंचायत क्षेत्र के गांव ऑडियो का बाड़िया के पास चरागाह में शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे हेमसिंह पवार ने पैंथर मरा पड़ा देखा। इसकी सूचना पर भीलवाड़ा से उप वन संरक्षक डीपी जगावत, रेंजर गोविंदसिंह खींची पहुंचे जहां करीब 2 साल की मादा पैंथर का शव पड़ा था। इसकी लंबाई 5 फीट 8 इंच तथा ऊंचाई 2 फीट थी।

मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया। पटवारी राहुलसिंह, शिवपुर पुलिस चौकी प्रभारी विजयसिंह की उपस्थिति में चरागाह में दाह कराया। रेंजर गोविंदसिंह खींची ने बताया कि शव एक दिन पुराना लगता है। वन्यजीव के फेफड़ों में इन्फेक्शन है। कमजाेरी के कारण शिकार नहीं कर पाने से भूख के कारण मौत हुई।

उल्लेखनीय है कि जिले में 19 नवंबर की रात करीब 10 बजे राजसमंद-भीलवाड़ा हाईवे पर गुरलां के पास पैंथर वाहन की चपेट में आ गया था। वह शिकार की तलाश में पहाड़ी से सड़क तक आ गया था। हालांकि वन्यजीव गणना में पैंथर नजर नहीं आ रहे हैं। लेकिन पिछले साल फील्ड ट्रैकिंग में 16 पैंथर दिखे थे।

इनमें अब छह ही रह गए हैं। दस वन्यजीव अकाल माैत मारे जा चुके हैं। जिला वन अधिकारी डीपी जगावत कहते हैं कि शिकार के लिए पैंथर दूर-दूर तक जा सकता है। जिससे हादसे हाेते हैं। सेंचुरी बनाकर ही इन्हें संरक्षित किया जा सकता है।

करेड़ा वन क्षेत्र में पांच साल में दस की माैत
शिवपुर में वर्ष 2015 में लाेगाें ने बस्ती में घुस आए पैंथर काे पीट-पीटकर मार दिया था। जगदीश गांव के नजदीक, गोरखया तालाब में, गोरधनपुरा में, बागजना के नजदीक भी अलग-अलग कारणाें से मरे पैंथर मिले हैं। इस साल में ही पांच पैंथर के शव मिल चुके हैं। 16 मई को रामपुरिया क्षेत्र में शावक एवं 12 जून को नारेली के निकट वयस्क पैंथर के शव मिले थे।

19 जून को मोटा का खेड़ा के निकट पैंथर का शव मिला था। उसकी पाेस्टमार्टम रिपाेर्ट में पता चला कि पैर में लकवा था इसलिए शिकार नहीं कर पाया हाेगा अाैर भूख से मौत हाे गई। इसके बाद 15 अगस्त को कीड़ीमाल के पास भीम-गुलाबपुरा हाईवे पर भी पैंथर का शव मिला। इस माैत का कारण वाहन की टक्कर रहा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ऊर्जा तथा आत्मविश्वास से भरपूर दिन व्यतीत होगा। आप किसी मुश्किल काम को अपने परिश्रम द्वारा हल करने में सक्षम रहेंगे। अगर गाड़ी वगैरह खरीदने का विचार है, तो इस कार्य के लिए प्रबल योग बने हुए...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser