भीलवाड़ा में पिकनिक मनाने गए 30 लोग बाढ़ में घिरे:इलाके में बारिश से अचानक सेवन फॉल झरने के बहाव तेज हुआ, SDRF और पुलिस ने 5 घंटे की मशक्कत के बाद सभी का किया रेस्क्यू

भीलवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुरुवार देर शाम तक एसडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया। - Dainik Bhaskar
गुरुवार देर शाम तक एसडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया।

भीलवाड़ा के बिजौलिया थाना क्षेत्र की सीमा में आने वाले सेवन फॉल झरने के बहाव में गुरुवार को बूंदी से पिकनिक मनाने आए करीब 30 लोग फंस गए। पानी का बहाव इतना तेज था कि लोगों की जान पर बन आई। इसकी सूचना मिलते ही भीमलत झरने पर तैनात एसडीआरएफ की टीम व बूंदी से सदर पुलिस का दल मौके पर पहुंच गया। करीब पांच घंटे की मशक्कत के बाद इन्हें सुरक्षित निकाल लिया गया।

लोगों के बहाव में फंसने की सूचना के बाद मौके पर भीड़ लग गई।
लोगों के बहाव में फंसने की सूचना के बाद मौके पर भीड़ लग गई।

इस मामले की जानकारी मिलने के बाद बिजौलिया के तहसीलदार व अन्य पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार बूंदी से करीब 30 लोग बांका गांव में स्थित चांद साहब की मजार पर घूमने आए थे। यहां घूमने के बाद यह सभी लोग सेवन फॉल झरने के ऊपर की तरफ पानी के बहाव में पिकनिक मना रहे थे।

बहाव के बीच फंसे लोगों तक पहुंचने की कोशिश करती एसडीआरएफ की टीम।
बहाव के बीच फंसे लोगों तक पहुंचने की कोशिश करती एसडीआरएफ की टीम।

गुरुवार दोपहर को बिजौलिया क्षेत्र में जमकर बारिश हुई थी। इसके कारण झरने में पानी का बहाव अचानक बढ़ गया था। बच्चों, महिलाओं तथा पुरुषों सहित ये सभी लोग चट्टानों पर खाना खा रहे थे। करीब तीन बजे बहाव बढ़ने के बाद वहां फंस गए। इन लोगों ने बूंदी सदर पुलिस को सूचना दी। रात करीब 8:30 बजे तक चले रेस्क्यू ऑपरेशन में इन सभी लोगों को सुरक्षित निकाल दिया गया है।

खबरें और भी हैं...