15 साल की लड़की की शादी से पहले निकाली बिंदौली:रात को आनी थी बारात, बाल विवाह की सूचना पर पहुंचे अधिकारी; मचा हड़कंप

भीलवाड़ाएक महीने पहले
देर रात को कस्बे में निकाली बिंदौली।

भीलवाड़ा में फिर एक बाल विवाह का मामला सामने आया है। सोमवार की रात में एक मासूम लड़की को घोड़े पर बैठाकर बिंदौली निकाली गई। रात को ही बिंदौली के बाद मासूम की शादी होने वाली थी। लेकिन इससे पहले ही प्रशासन मासूम के घर पहुंच गया। अधिकारियों को देख शादी समारोह के घर में हड़कंप मच गया। अधिकारियों ने जब लड़की के डॉक्यूमेंट मांगे तो उसकी उम्र 15 साल सामने आई। इसके बाद अधिकारियों शादी को वहीं रूकवा दी। साथ ही परिजनों को शादी नहीं करवाने के लिए पाबंद भी किया।

मामला करेड़ा कस्बे का है। जहां रहने वाले जुंझारसिंह के घर पर सोमवार रात को उसकी बेटी गंगा की शादी होनी थी। इसी रात को गंगा की डोडिया से बारात भी आने वाली थी। लेकिन इससे पहले ही प्रशासन को गंगा की उम्र कम होने की शिकायत मिली। जिसपर करेड़ा तहसीलदार हरेंद्रसिंह चौहान सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। गंगा के परिजनों से उसके उम्र से संबंधित दस्तावेज मांगे। इसके बाद तहसीलदार हरमेंद्रसिंह ने सभी को शादी नहीं करवाने के लिए पाबंद किया।

पूरे गांव में निकली बिंदौली

करेड़ा कस्बे में गंगा की शादी धूमधाम से की जा रही थी। कस्बे में उसकी बिंदौली भी निकाली गई थी। सरकार की ओर से बाल विवाह को लेकर ग्रामीण स्तर पर भी कई सरकारी कर्मचारियों को इसकी जिम्मेदारी दे रखी है। लेकिन इस शादी के लिए बारात आने के कुछ समय पहले ही अधिकारियों को सूचना मिलती है। यह ग्रामीण क्षेत्रों में हो रहे बाल विवाह की सूचना देने के लिए जिम्मेदार सरकारी कर्मचारियों पर सवाल भी खड़ा करते है।

क्रडिट - सुरेश श्रोत्रिय, करेड़ा