आर्ट से निखरेगा कोटडी श्याम मंदिर:मंदिर की दीवारों पर शिल्पकार उकेरेंगे 309 अलग-अलग तरह की प्रतिमाएं, ज्यादातर योग की मुद्राओं में होगी, अगले साल तक पूरा होगा काम

भीलवाड़ा8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मंदिर में काम करता कलाकार। - Dainik Bhaskar
मंदिर में काम करता कलाकार।

जिले में आस्था के केंद्र के रूप में पहचाना जाने वाला कोटडी श्याम मंदिर अब और भी प्राचीन कलाकृतियों (आर्ट) से सजाया जाएगा। पत्थर पर नक्काशी करने वाले कलाकारों द्वारा इस मंदिर की हर दीवार पर करीब 309 अलग-अलग तरह की प्रतिमाओं को उकेरा जाएगा। भगवान श्रीचारभुजा नाथ के शिखर मंदिर के चारों ओर, प्रवेश द्वार व मंडप के भीतर 309 विभिन्न योग मुद्राएं लिए व कलाकृतियों से अलंकृत परियों के रूप को तराशा जाएगा। मन्दिर में यह कार्य शारदीय नवरात्र के शुभारंभ पर गुरुवार से शुरू किया गया।

अलग-अलग तरह की करीब 309 प्रतिमाएं बनाई जाएगी मंदिर में।
अलग-अलग तरह की करीब 309 प्रतिमाएं बनाई जाएगी मंदिर में।

शिल्पकार विजय गंगाधर सोमपुरा ने बताया गुर्जर समाज आम चोखला द्वारा निर्मित भगवान श्रीकोटडी श्याम दरबार के चारों ओर स्थापित शिलाओं पर विभिन्न प्रकार की योग मुद्रा लिए परियों की नक्काशी का कार्य जारी है। सोमपुरा ने बताया ठाकुर जी के निज मंदिर के 13 प्रवेश द्वारों के ऊपर श्रीगणेश, दोनों तरफ गजराज, बीच में माता लक्ष्मी की प्रतिमा उकेरी जाएगी। वहीं प्रवेश द्वार की सीढ़ियों के पास दोनों ओर खड़ी मुद्रा में द्वारपाल बनाए जाएंगे। मंदिर के अंदर सभा मंडप में बेहतरीन कलाकृतियों से अलंकृत पौराणिक कलाकृति, विशेष मुद्रा वाली परियां स्थापित की जाएगी। परियों की विभिन्न आकृतियों को तराशने व नक्काशी कार्य के लिए बेहतरीन शिल्पकारों को लगाया गया है। अगले साल तक काम पूरा होगा।

खबरें और भी हैं...