साइकिल ‌ महंगी:बेटियों की साइकिल ‌453 रुपए महंगी इस सत्र 1.36 कराेड़ ज्यादा खर्च होंगे

भीलवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

महंगाई का असर सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाली छात्राओं को निशुल्क वितरण के लिए खरीदी साइकिलों पर भी असर पड़ा। सत्र 2019-20 में कक्षा नौ में अध्ययनरत जिले की 14,839 छात्राओं को साइकिल वितरित की गई थीं। उस समय लागत 3,346 रुपए प्रति साइकिल थीं। गत सत्र 2020-21 में कोरोना महामारी के कारण विद्यालय संचालित नहीं होने से साइकिल वितरित नहीं हो पाई। चालू सत्र 2021-22 में कक्षा 9 के साथ ही कक्षा 10 की छात्राओं को भी साइकिल वितरित की जाएगी। लेकिन, सत्र 2019-20 के मुकाबले चालू सत्र में साइकिल 453 रुपए प्रति साइकिल महंगी हो गई।

जिले में इस सत्र में कक्षा 9 की 15,078 एवं कक्षा 10 की 14,979 छात्राओं को 3,799 रुपए की लागत से खरीदी साइकिल वितरित होगी। जिले में इस सत्र में 30,057 छात्राओं को 11 करोड़ 41 लाख 86,543 रुपए लागत की साइकिल वितरित की जाएगी। इस प्रकार, साइकिल की दर बढ़ जाने से विभाग को इस सत्र में करीब 1 करोड़ 36 लाख 15,821 रुपए अधिक चुकाने पड़ेंगे। लुधियाना की फर्म ने जिले की 13 नोडल स्कूलों में साइकिल के पार्ट्स पहुंचा दिए हैं। जहां मिस्त्री साइकिलें तैयार करने में जुटे हैं। साइकिल नए साल में वितरित की जाएगी।

नोडल स्कूल: कहां कितनी पहुंची साइकिलें
राउमावि आसींद में 3,623, राउमावि मांडल में 1,729, राउमावि करेड़ा में 1,650, राउमावि गंगापुर 1,722, राउमावि रायपुर में 1,486, राउमावि लेबर कॉलोनी 3,287, राउमावि सुवाणा 2,726, राउमावि हुरड़ा 1,650, राउमावि जहाजपुर 2,492, राउमावि बनेड़ा 1,759, राउमावि मांडलगढ़ 2,152, राउमावि बिजौलिया 9,43, राउमावि कोटड़ी 2,122 एवं शाहपुरा के राउमावि में 2,716 साइकिलें वितरित होगी।

खबरें और भी हैं...