पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रामलीला मंचन:फड़ रामलीला पांचवां दिन, शूर्पणखा काे सजा, स्वर्ण मृग के आने और लक्ष्मण रेखा प्रसंग

भीलवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राक्षसी शूर्पणखा मायावी रूप लेकर तरह-तरह से राजकुमाराें काे ललचा रही थीं

काेराेना गाइडलाइन है इसलिए शारदीय नवरात्र में इस साल रामलीलाएं नहीं हाे रहीं। कुछ स्थानाें पर हाे रही हैं ताे प्रतीकात्मक। जहां कलाकार आते हैं। रामायण की आरती करते हैं। प्रसंग की झांकी सजाते हैं, ताकि परंपरा न टूटे। आम दर्शक नहीं हाेते। चूंकि काेराेना संक्रमण फैलने का खतरा बना हुआ है इसलिए हमें भीड़ से बचना जरूरी भी है। ऐसे में आप दैनिक भास्कर के साथ रामलीला दर्शन कर सकते हैं।

लोक देवताओं की जीवन गाथाओं पर बनने वाली फड़ चित्रशैली में नवाचार करते रहे राष्ट्रपति से सम्मानित कल्याण जोशी ने पूरी रामकथा कूंची से उकेरी है। आज अरण्यकांड से राक्षसी शूर्पणखा के नाक-कान काटने, स्वर्णमृग का वन में कुटिया के पास आने और लक्ष्मण के श्रीराम की तलाश में जाने से पूर्व रेखा खींचने का प्रसंग। एक निवेदन- इस धराेहर काे आप संग्रहित करें...

लछिमन अति लाघवं साे, नाक-कान बिनु कीन्हि। ताके कर रावन कहं, मनाै चुनाैती दीन्हि।।

दंडक वन में जहां कुटिया बनी हुई थी, वहां का प्रसंग है। राक्षसी शूर्पणखा मायावी रूप लेकर तरह-तरह से राजकुमाराें काे ललचा रही थीं। तब लक्ष्मणजी ने बड़ी फुर्ती से उसकाे बिना नाक-कान की कर दिया। मानाे उसके हाथ रावण काे चुनाैती दी हाे।

सीता परम रुचिर मृग देखा, अंग-अंग सुमनाेहर बेषा। सुनहु देव रघुबीर कृपाला, एहि मृग कर अति सुंदर छाला।।

पर्ण कुटिया के बाहर विराजित सीताजी ने एक परम सुंदर हिरन काे देखा। स्वर्ण की तरह चमकते हुए उसके अंग-अंग की छटा अत्यंत मनाेहर थी। वे श्रीराम से कहने लगीं- हे देव, हे कृपालु रघुवीर... सुनिए, इस मृग की छाल बहुत ही सुंदर है।

मरन बचन जब सीता बाेला, हरि प्रेरित लछिमन मन डाेला। बन दिसि साैंपि सब काहू, चले जहां रावन ससि राहू।।

श्रीराम के संकट में हाेने वाले मर्म व चुभने वाले वचन सीताजी कहने लगींं तब लक्ष्मण का मन चंचल हाे गया। वे सीताजी काे वन देवताओं काे साैंप चले जहां राणव रूपी चंद्रमा के लिए राहु रूपी श्रीराम थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थिति तथा समय में तालमेल बिठाकर कार्य करने में सक्षम रहेंगे। माता-पिता तथा बुजुर्गों के प्रति मन में सेवा भाव बना रहेगा। विद्यार्थी तथा युवा अपने अध्ययन तथा कैरियर के प्रति पूरी तरह फोकस ...

और पढ़ें