तीसरी लहर से पहले चिकित्सा विभाग की चिंता:जिले के पांच लाख लोगों ने तो पहली डोज भी नहीं लगवाई, ढाई लाख दूसरी डोज लगवाने नहीं आए

भीलवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अब घर घर जाकर लगाई जाएगी डोज। - Dainik Bhaskar
अब घर घर जाकर लगाई जाएगी डोज।

देश में कोरोना के तीसरे लहर की दस्तक हो चुकी है। अब कोरोना का खतरा भीलवाड़ा में भी मंडराने लगी है। पहली लहर में जहां भीलवाड़ा देख में कोरोना को मात देने के लिए रोल मॉडल बनकर सामने आया था। वहीं, इस तीसरी लहर में चिकित्सा विभाग काफी चिंतित नजर आ रहा है। जिले में अभी तक शत प्रतिशत लोगों को वैक्सीन नहीं लग पाई है। अभी तक जिले में पांच लाख लोग तो ऐसे हैं। जिन्होंने वैक्सीन का पहला डोज भी नहीं लगवाया। ऐसे में तीसरी लहर के शुरू होते ही विभाग के अधिकारियों की चिंताए बढ़ गई है। अब विभाग की ओर से जिले भर में मेडिकल स्टॉफ को घर घर वैक्सीनेशन के लिए भेजा जा रहा है।

मेडिकल डिपार्टमेंट के अधिकारियों की माने तो जिले में वैक्सीनेशन के लिए 18 लाख लोगों को टारगेट किया गया था। इसमें से 10 लाख लोगों ने पहली डोज लगवाली है। वहीं 7.5 लाख लोगों ने दूसरी डोज भी लगवा ली। अधिकारियों का कहना है कि जिले में अभी भी ढाई लाख लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज लगनी बाकी है। वहीं पांच लाख लोगों ने तो अभी पहली डोज भी नहीं लगवाई है। ऐसे में अब इन पांच लाख लोगों को कैसे भी वैक्सीन लगवाने का लक्ष्य विभाग को जल्द से जल्द पूरा करना होगा।

वेरियंट कोई भी सब खतरनाक है

सीएमएचओ मुश्ताक अली ने बताया कि वैक्सीन लगवाने से लोगों को एंटीबॉडी तैयार हो रही है। हाल में तीसरी लहर के मरीज व अलग वेरियंट के बारे में भी सामने आ रहा है। बेरियंट कोई भी हो सभी घातक है। लेकिन, जिन्होने डोज लगवा रखी है। उन पर यह कम असर करेगा।

लापरवाह हो रहे है लोग

अधिकारियों ने बताया कि अभी गई त्यौहारी सीजन व अभी शादियों के दौर को देख साफ लग रहा है कि लोग कोरोना को लेकर काफी लापरवाह है। लोग किसी भी नियम को नहीं मान रहे है। बिना मास्क और बिना दूरी बनाए लोगा भीड़ बना रहे है। यह संक्रमण का सबसे बड़ा खतरा बनकर उभर सकता हैं।