पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लोन के नाम पर महिलाओं से ठगी:सरकारी योजना में लोन दिलाने के नाम पर 90 महिलाओं से धोखाधड़ी, एक-एक महिला से 4 हजार रुपए ऐंठे

भीलवाड़ा4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस हिरासत में महिलाओं से ठगी का आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस हिरासत में महिलाओं से ठगी का आरोपी।

गरीबों को रोजगार दिलाने और इसके लिए सरकारी योजनाओं का फायदा दिलाने के नाम पर एक और बड़ी ठगी का मामला उजागर हुआ है। बिजौलिया थाना क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में करीब 80 से 90 महिलाओं के साथ धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। जहां एक गिरोह महिलाओं को प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना का लोन दिलाने के नाम पर उनसे रुपए लिए गए हैं। इस मामले की शिकायत बिजौलिया पुलिस को होते ही पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए इस गिरोह के एक सदस्य मांडल के भादू निवासी जितेन्द्रसिंह को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस की पहली पूछताछ में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। जिनमें इस गिरोह द्वारा ग्रामीण इलाकों में रहने वाली भोली भाली महिलाओं को लोन दिलाने का छलावा देकर उनके दस्तावेज और उनके रुपए हड़प ले गए हैं। इस गिरोह द्वारा बिजौलिया इलाके के अलावा जिले के कई ग्रामीण क्षेत्रों में वारदात को अंजाम दिया गया है।

बिजौलिया थाना प्रभारी सूर्यभान सिंह ने बताया कि थाना क्षेत्र के रामपुरिया गांव में रहने वाले कमलेश मीणा ने मामला दर्ज करवाया है। इसमे बताया है की कुछ युवकों ने एक माह पहले उसकी पत्नी व एक दर्जन अन्य महिलाओं को प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत 1 लाख रुपए का लोन दिलवाने के छलावा दिया गया। आरोपियों द्वारा महिलाओं से इनकी बैंक डायरी, पैनकार्ड, आधार कार्ड सहित अन्य दस्तावेज की फोटोकॉपी ली गई। फाइल चार्ज के नाम पर 4500 रुपए ले लिए गई। एक माह बीतने के बाद भी उनके खातों में लोन नही आया। जब उन युवकों के दिए आईडी कार्ड पर फोन किया तो नाम, पता ओर फोन नम्बर सभी फर्जी निकले।

ग्रामीण महिलाओं को बनाते है निशाना

पुलिस ने बताया कि इस गिरोह के सदस्य जितेंद्र सिंह से पूछताछ में सामने आया कि उसके साथ दो और उसके साथी भी शामिल है। पहली पूछताछ में उसने बताया कि इस गिरोह द्वारा सिर्फ ग्रामीण क्षेत्रों में ही महिलाओं को टारगेट बनाया जाता है। ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं जल्दी से छलावे में आ जाती है और उनसे पैसा निकालना भी काफी आसान होता है। अभी तक जांच में यह स्पष्ट हुआ है कि इस गिरोह द्वारा शहरी क्षेत्र में एक भी वारदात को अंजाम नहीं दिया गया है।

जिलेभर की कई वारदात खुलने की उम्मीद

पुलिस ने बताया है कि इस गिरोह के एक सदस्य के पकड़े जाने के बाद करीब 90 से ज्यादा शिकायतें पुलिस को बिजौलिया थाना क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों से मिल चुकी है। पुलिस अब इस गिरोह के दो अन्य सदस्यों की तलाश कर रही है। आशंका है कि इस पूरे गिरोह का भंडाफोड़ होने के बाद जिले भर में सैकड़ों की संख्या में महिलाओं से ठगी के मामले सामने आ सकते हैं।

खबरें और भी हैं...