वाहन खरीदारों के लिए अच्छी खबर:नए वाहनाेंं में बीआर नंबर प्लेट की जगह अब बीएच नंबर प्लेट लगेगी...नए रोड टैक्स के स्लैब भी बनाए

भीलवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बीएच सीरीज वाले वाहनों का किसी भी राज्य में बिना रोक-टोक के हाे सकेगा परिचालन

दाे व चार पहिया वाहन मालिकाें के लिए विशेषकर ऐसे लाेग जिन्हें काम के सिलसिले में बार-बार स्थानांतरण की प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है, उनके लिए सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। अब नए वाहनाें के रजिस्ट्रेशन के लिए सभी राज्याें में नए नियम लागू किए गए हैं। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने नई भारत सीरीज लाॅन्च की है। इसके तहत देशभर में नए वाहनाें में नंबर प्लेट बीएच सीरीज अर्थात भारत से शुरू हाेगी।

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने नए वाहनाें के लिए भारत सीरीज की अधिसूचना जारी कर दी है। इसके तहत अब वाहन स्वामी नए वाहनों का बीएच सीरीज में रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे। इस सीरीज का सबसे अधिक फायदा ताे यही है कि नाैकरी व कामधंधे के सिलसिले में किसी दूसरे राज्य में जाने पर इस नंबर के वाहन मालिकाें काे नया रजिस्ट्रेशन नंबर लेने की आवश्यकता नहीं हाेगी।

इस व्यवस्था के तहत बीएच सीरीज वाले वाहन पुराने रजिस्ट्रेशन नंबर से ही दूसरे राज्य में आसानी से अपना वाहन चला सकेंगे। भारत व्हीकल श्रृंखला के नंबराें से केंद्र सरकार के कर्मचारियाें, सेना-अर्धसैनिक सुरक्षा वालाें से जुड़े लाेगाें व उन लाेगाें काे भी फायदा हाेगा, जाे नाैकरी व काम के सिलसिले में एक राज्य से दूसरे राज्य में रहते हैं।

ये सभी लाेग बीएच सीरीज नंबर से ही अपने वाहन काे नए राज्य में चला सकेंगे। बीएच सीरीज के तहत व्हीकल टैक्स दाे साल या चार, छ: व आठ साल के हिसाब से लगाया जाएगा। यह याेजना नए राज्य में स्थानांतरित हाेने पर निजी वाहनाें की मुफ्ति आवाजाही की सुविधा प्रदान हाेगी। 14वें साल के बाद माेटर व्हीकल टैक्स वार्षिक रूप से लगाया जाएगा, जाे उस वाहन के लिए पहले वसूल की गई राशि का आधा हाेगा।

दूसरे राज्य में जाने पर फिर से रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं रहेगी

जिला परिवहन अधिकारी वीरेंद्र सिंह राठाैड़ ने बताया कि वर्तमान में अलग-अलग राज्याें में राेड टैक्स अलग है। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा वाहनाें के रजिस्ट्रेशन की इस नई व्यवस्था से किसी दूसरे राज्य में जाने पर फिर रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। साथ ही आरटीओ ऑफिस के चक्कर लगाने से भी छुटकारा मिल जाएगा। अब बीएच सीरीज के नंबर वाले वाहन किसी भी राज्य में बिना झंझट चला सकेंगे। फिलहाल निजी वाहनाें के रजिस्ट्रेशन के समय वाहन मालिक काे 15 साल का राेड टैक्स एक साथ जमा कराना पड़ता है, इसके बावजूद यदि वह स्थानांतरण पर किसी दूसरे राज्य में जाते हैं ताे वहां उन्हें फिर से रजिस्ट्रेशन कराना हाेता है। अब बीएच सीरीज के नंबर से इस तरह के झंझट से मुक्ति मिल जाएगी।

ऐसी हाेगी नंबर प्लेट और उसका रंग...बीएच सीरीज नंबर प्लेट काले और सफेद रंग की हाेगी। इसमें सफेद पृष्ठभूमि पर काले रंग से नंबर अंकित हाेगा। नंबर प्लेट पर रजिस्ट्रेशन की शुरुआत अंग्रेजी के बीएच अक्षराें से हाेगी। इसके बाद जिस साल वाहन का रजिस्ट्रेशन हुआ है, उसके अंतिम दाे अंक हाेंगे।

फिर आगे का नंबर हाेगा। नंबर प्लेट पर रजिस्ट्रेशन की शुरुआत अंग्रेजी के बीएच अक्षराें से हाेगी। भारत सीरीज में राेड टैक्स 10 लाख से कम के वाहन में 8%, 10 से 20 लाख के वाहन में 10% और 20 लाख के वाहन में 12% टैक्स लगेगा। अगर इसमें डीजल वाहन है ताे अतिरिक्त 2% टैक्स अधिक लगेगा। ऐसे ही इलेक्ट्रिक वाहनाें पर 2% टैक्स कम लगाया जाएगा। 14 साल पूरे हाेने पर वाहन पर सालाना टैक्स लगाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...