पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मामला दर्ज:कंपनी से मुनाफा देने के नाम 13.60 लाख की धोखाधड़ी का आराेपी दाे दिन रिमांड पर सौंपा

भीलवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • काेतवाली पुलिस ने किया गिरफ्तार, दाे और डायरेक्टर भी बनाए गए आराेपी

अजमेर के एक व्यक्ति काे कंपनी से मुनाफा देने के नाम पर झांसा देकर 13.60 लाख रुपए की धाेखाधड़ी करने के आराेप में काेतवाली पुलिस ने गुरुवार काे काणाेली के एक युवक काे गिरफ्तार किया। शुक्रवार काे उसे काेर्ट में पेश कर दाे दिन के लिए रिमांड पर लिया गया।

मामला नवंबर 2020 में दर्ज कराया गया था। आराेपी ने पिछले दिनाें उसे भीलवाड़ा बुलाया तथा उसके साथ मारपीट कर जान से मारने की धमकी देकर भगा दिया। सब इंस्पेक्टर दलपत सिंह के अनुसार अजमेर निवासी अरुण शर्मा ने नवंबर 2020 में काेतवाली में दी रिपाेर्ट में पुर थानान्तर्गत काणाेली निवासी मुकेश जाेशी पर आराेप लगाया कि उसने एक कंपनी खाेली, जिसमें मुनाफा हाेने का लालच देकर वर्ष 2019 में उससे दाे बार में 13.60 लाख रुपए ले लिए, लेकिन फायदा नहीं दिया।

पहली बार 12.60 लाख तथा दूसरी बार एक लाख रुपए लिए। मुनाफा नहीं मिला ताे अरुण ने मुकेश से दी गई राशि वापस मांगी। बार-बार कहने पर आराेपी ने रुपए ताे नहीं लाैटाए, लेकिन बातचीत करने के लिए लिखापढ़ी किए गए कागजात लेकर भीलवाड़ा बुलाया, जिसके साथ कांवाखेड़ा में मारपीट की गई। पैसा मांगने पर जान से मारने की धमकी देकर भगा दिया।

काेतवाली पुलिस ने मामले की जांच करते हुए गुरुवार काे आराेपी काे धाेखाधड़ी के आराेप में गिरफ्तार कर शुक्रवार काे काेर्ट में पेश कर किया, जहां से न्यायाधीश ने उसे रिमांड पर भेज दिया। सब इंस्पेक्टर ने बताया कि रिपाेर्ट में कंपनी के दाे डायरेक्टर दिनेश व विनाेद भी आराेपी है, लेकिन मामले में उनकी संलिप्तता है या नहीं, जांच के बाद ही पता चलेगा। मुकेश के खिलाफ कोेतवाली में 2014 में एसबीआई के प्रबंधक सुगनामल कलवानी ने भी 40 लाख रुपए की धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवा रखा है। पुलिस का कहना हैं कि आरोपी के खिलाफ धाेखाधड़ी के और भी मामले हाे सकते हैं।

खबरें और भी हैं...