भीलवाड़ा में एक साथ 2 बाल विवाह:10 से 12 साल के दूल्हा-दुल्हन, परिजन खुलेआम मंदिरों में धोक लगवाने ले गए

भीलवाड़ा2 महीने पहले
शादी के बाद परिजन बच्चों को कोटडी श्याम मंदिर में धोक लगवाने के लिए भी ले गए।

भीलवाड़ा में मंगलवार काे एक साथ बाल विवाह के दो मामले सामने आए। 10-12 साल के चार मासूम बच्चों को परिजन कोटडी श्याम मंदिर में धोक दिलवाने लाए। ये बच्चे गेंदलिया के पास लसाड़िया गांव के रहने वाले हैं।

एक दिन पहले ही इन दोनों मासूम जोड़ों की शादी कराई गई। मामले का सबसे शर्मनाक पहलू यह है कि शादी के बाद दोनों जोड़ों को परिजन आराम से मंदिर लेकर आए और धोक लगवाकर वहां से निकल भी गए। खुलेआम हुए इन 2 बाल विवाह के बारे में न पुलिस को पता चला और न ही प्रशासनिक अधिकारियों को। वहीं, भीलवाड़ा के आसिंद में भी बाल विवाह का एक मामला सामने आया है।

ऐसा ही एक दूसरा वीडियो आसींद का भी सामने आया। जहां दो मासूम बच्चों को शादी के बंधन में बांध दिया। उन्हें घर में ही धोक लगवाई गई।
ऐसा ही एक दूसरा वीडियो आसींद का भी सामने आया। जहां दो मासूम बच्चों को शादी के बंधन में बांध दिया। उन्हें घर में ही धोक लगवाई गई।

बाल विवाह का एक और वीडियो सामने आया
ऐसा ही एक दूसरा वीडियो आसींद का भी सामने आया। जहां दो मासूम बच्चों को शादी के बंधन में बांध दिया। उन्हें घर में ही धोक लगवाई गई। यह वीडियो दो दिन पुराना बताया जा रहा है। बच्चों को यह पता नहीं कि उनकी शादी हो गई। वह अपनी मस्ती में ही नजर आ रहे है।