पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bhilwara
  • Investigation Team Will Come From Bikaner Today, Will Investigate In The Case Of Embezzlement, Many Officers And Employees Will Be Questioned

भीलवाड़ा संविदाकर्मी गबन मामला:आज आएगा बीकानेर से जांच दल, गबन के मामले में करेगी जांच; कई अधिकारियों व कर्मचारियों से होगी पूछताछ

भीलवाड़ा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इस मामले में कोटडी कार्यवाहक सीबीईओ द्वारा कोटडी थाने में मामला दर्ज करवाया गया है। - Dainik Bhaskar
इस मामले में कोटडी कार्यवाहक सीबीईओ द्वारा कोटडी थाने में मामला दर्ज करवाया गया है।

जिले के कोटड़ी सीबीईओ कार्यालय में कार्यरत संविदा कर्मी गोपाल सुवालका दो करोड़ रुपए के गबन मामले में सोमवार को शिक्षा निदेशालय बीकानेर से 3 सदस्य टीम जांच करने के लिए आएगी। इस टीम के आने की सूचना के साथ ही शिक्षा विभाग के कई अधिकारियों एवं कर्मचारियों के भी पसीने छूट गए हैं। यह टीम गोपाल द्वारा 11 साल में किए गए गबन के दस्तावेजों की जांच करेगी। इसके साथ ही इन 11 सालों में वह किन अधिकारियों के अधीनस्थ था और उसके साथ और कौन कर्मचारी थे। इस पर भी पूछताछ होने वाली है।

इधर, बड़लियास पुलिस थाने में गोपाल सुवालका की रिमांड अवधि पूरी होने के बाद मंगलवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। पुलिस ने गोपाल सुवालका द्वारा गेगा का खेड़ा सरकारी स्कूल में किए गए 12 लाख रुपए के गबन मामले में पूछताछ पूरी कर ली है। पुलिस की पूछताछ में प्रमुख रूप से सामने आया कि गोपाल ने अधिकारियों के लॉगिन व गोपनीय पासवर्ड का जुगाड़ कर सरकारी खाते से पैसा उठाया था। पुलिस ने इस मामले में उस दौरान रहे अधिकारियों की भी पूरी लापरवाही मानी है।

कई अधिकारियों से होने वाली है पूछताछ

बताया जा रहा है कि गोपाल सुवालका द्वारा किए गए दो करोड़ रुपए के गबन में 7 अधिकारी और कर्मचारियों की भूमिका भी संदिग्ध सामने आ रही है। बीकानेर द्वारा भेजी गई इस टीम द्वारा इन सभी अधिकारियों से भी इस मामले में पूछताछ की जाएगी। इस टीम का मुख्य उद्देश्य गोपाल द्वारा किए गए इतने बड़े गबन में किस स्तर पर लापरवाही हुई है। उसकी रिपोर्ट शिक्षा निदेशक को देनी है।

यह है पूरा मामला

गौरतलब है कि 12 अगस्त को बडलियास थाने में गेगा का खेड़ा सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल ने कोटडी सीबीईओ कार्यालय में लगे संविदा कर्मी गोपाल के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। इस रिपोर्ट में उन्होंने बताया कि गोपाल ने फर्जी तरीके से स्कूल रिकॉर्ड में एक काल्पनिक शिक्षक बनाकर उसके नाम पर 12 लाख रूपर की राशि उसकी पत्नी दिलखुश के खाते में जमा करवाई थी। इसके बाद गोपाल के मामले में एक जांच कमेटी बिठाई गई। और उसके 11 साल के रिकॉर्ड को चेक किया गया। जिसमें गोपाल द्वारा काल्पनिक शिक्षक बनाकर व बिलों में हेरफेर कर शिक्षा विभाग को करीब 2 करोड़ रुपए का चूना लगाया गया। इस मामले में कोटडी कार्यवाहक सीबीईओ द्वारा कोटडी थाने में मामला दर्ज करवाया गया है।

खबरें और भी हैं...