पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bhilwara
  • Kamlesh, An Alumnus Of Textile College, Has Made Collective Cooperation A Mission With The Help Of Needy Colleagues From Rs. 15.80 Lakhs.

सामूहिक सहयोग:टेक्सटाइल काॅलेज के पूर्व छात्र कमलेश सामूहिक सहयोग को मिशन बनाकर 15.80 लाख रुपए से कर चुके हैं जरूरतमंद साथियों की मदद

भीलवाड़ा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कमलेश
  • टेक्सटाइल कॉलेज के 5 हजार स्टूडेंट्स का भरोसा, जब होगी जरूरत तो मिलेगी मदद
  • वर्ष 2015 से थ्राइविंग इंजीनियर एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं कमलेश बाहेती

क्राउड फंडिंग (सामूहिक सहयाेग) मदद का बेहतरीन जरिया है। एक उद्देश्य के लिए इसे मिशन के तौर पर लागू करना हर किसी के वश की बात नहीं है। यह तब और मुश्किल हो जाता है जब आप किसी बहुराष्ट्रीय कंपनी में वाइस प्रेसिडेंट हों और किसी साथी की जरूरत के लिए आपको क्राउड फंडिंग के जरिए मदद पहुंचानी हो।

इसमें माहिर हैं रिलायंस मुंबई में असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट(पॉलीस्टर फिलामेंट यार्न मार्केटिंग) कमलेश बाहेती। इस अनूठी कला के कारण टेक्सटाइल कॉलेज के तीन एलुमनी सदस्यों के इलाज के लिए 15.80 लाख रुपए की क्राउड फंडिंग कराकर मदद कर चुके हैं। एक दिन में 5 लाख रुपए तक एकत्रित किए। वर्ष 2015 से पहले तक एसोसिएशन सिर्फ 5 स्टूडेंट्स को 25 हजार रुपए की छात्रवृत्ति प्रदान किया करती थी, इनके अध्यक्ष बनने के बाद से हर साल 30 स्टूडेंट्स को छात्रवृत्ति मिलना शुरू हो गई जो कि 7.50 लाख रुपए है।

एक अकेला मदद नहीं कर सकता है योगदान जरूरी
थ्राइविंग इंजीनियर एसोसिएशन के अध्यक्ष कमलेश बाहेती का कहना है कि कितने ही अमीर हो या कितने ही ऊंचे पद पर बैठे हों लेकिन आपसे जुड़े हर व्यक्ति की आप पूरी मदद नहीं कर सकते हैं। मैं स्वयं एक बड़ी कंपनी में असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट हूं फिर भी मेरे लिए यह संभव नहीं है। लेकिन क्राउड फंडिंग ऐसा जरिया जिसमें छोटे से लेकर बड़ा योगदान आपके जानकार या आपका सर्किल कर सकता है। किसी एक पर बोझ नहीं आता है और जरूरतमंद की मदद हो जाती है।

टॉपर से लेकर असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट तक सफर
एसोसिएशन उपाध्यक्ष कृष्ण गोपाल भदादा ने बताया कि कमलेश बाहेती टेक्सटाइल कॉलेज से वर्ष 1991 में पॉलीटेक्निक डिप्लोमा किया था। वे राजस्थान टॉपर रहे। इसके बाद फिर से टेक्सटाइल कॉलेज में एडमिशन लेकर इंजीनियरिंग की। उस वक्त से रिलायंस के साथ जुड़े जो असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट पद पर पहुंचने तक जारी है।

कॉलेज से पास आउट 5 हजार बच्चों के परिवारों की उम्मीद है एसोसिएशन
एसोसिएशन के सचिव अनुराग जागेटिया और सलाहकार संदीप डांगी ने बताया कि वर्ष 2015 से लेकर अभी तक कमलेश बाहेती अध्यक्ष हैं। इनके आने के बाद से टेक्सटाइल कॉलेज से पासआउट 5 हजार स्टूडेंट्स यानी 5 हजार परिवारों का भरोसा है कि किसी भी आपातकालीन परिस्थितियों में होने पर उनके लिए मदद मिल सकती है। अभी तक सज्जन सिंह को 3.8 लाख रुपए, ईश्वर को 5 लाख, सुमित सोनी को 7 लाख रुपए की मदद कमलेश बाहेती की क्राउड फंडिंग के फॉर्मूले से की गई है। इनकी सक्रियता के चलते एसोसिएशन आयकर धारा 80जी में छूट के प्रावधान में रजिस्टर हो चुकी है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपनी दिनचर्या को संतुलित तथा व्यवस्थित बनाकर रखें, जिससे अधिकतर काम समय पर पूरे होते जाएंगे। विद्यार्थियों तथा युवाओं को इंटरव्यू व करियर संबंधी परीक्षा में सफलता की पूरी संभावना है। इसलिए...

और पढ़ें