• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bhilwara
  • Labor Women Were Returning Home After Doing Wages, Miscreants Took Them Away, Raped, When The Shepherd Saw Them, The Miscreants Ran Away

काम से घर लौट रही महिलाओं से गैंगरेप:बीच सड़क से उठा ले गए 4 बदमाश, फिर सुनसान जगह पर किया रेप; रवाहे ने देखा तो भागे

भीलवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
थाने में दर्ज हुआ मामला। - Dainik Bhaskar
थाने में दर्ज हुआ मामला।

जिले के बागोर थाना क्षेत्र के एक गांव में 2 श्रमिक महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटना सामने आई है। महिलाएं मजदूरी कर अपने घर लौट रही थी। इस दौरान सुनसान रास्ते पर चार बदमाशों ने उनका रास्ता रोक लिया और उनका अपहरण कर सुनसान इलाके में ले गए। दो बदमाशों ने महिलाओं के साथ दुष्कर्म किया। इस दौरान वहां से गुजर रहे एक चरवाहे ने महिलाओं की चिल्लाने की आवाज को सुन लिया। चरवाहे को देख बदमाश मौके से भाग छूटे। इस मामले में एक पीड़ित महिला ने थाने में मामला भी दर्ज करवाया। लेकिन, कोई कार्रवाई नहीं होने पर पीड़िता ने पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा के आगे इस मामले में सख्त कार्रवाई की गुहार लगाई। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक ने बागोर थाना प्रभारी को इस मामले में तुरंत कार्रवाई करने के आदेश जारी किए हैं।

बागोर पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार थाना क्षेत्र के एक गांव में रहने वाली 2 महिलाएं 19 सितंबर को पास के ही गांव से मजदूरी कल शाम 6:30 बजे अपने घर लौट रही थी। इस दौरान एक सुनसान स्थान पर पीरुलाल व प्रकाश नाम के दो बदमाशों ने उनका रास्ता रोक लिया। इस दौरान इन दोनों बदमाशों के दो मित्र पीरुलाल व कालूराम भी वहां पर आ गए। चारों बदमाश दोनों श्रमिक महिलाओं को जबरन सुनसान स्थान पर ले कर चले गए। जहां पीरुलाल पुत्र भगवानलाल ने पीड़िता से दुष्कर्म किया । इस दौरान पीरु पुत्र गंगाराम ने पीड़िता के हाथ पकड़ लिए। वही प्रकाश ने पीड़िता की साथी महिला से के साथ दुष्कर्म किया। इस दौरान कालूराम ने उसके हाथ को जबरन पकड़ रखा था। ताकि वह भाग नही सके। इस घटना के तुरंत पीड़िता के परिवार ने बदमाशों के खिलाफ थाने में शिकायत भी दर्ज करवाई। लेकिन, कोई करवाई नही हुई। जिसके चलते पीड़िता का पूरा परिवार पुलिस अधीक्षक के सामने पेश हुआ।

चरवाहे को आता देख पीड़िताओं को छोड़ भागे बदमाश

पीड़िता ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि वह और उसकी साथी महिला के साथ 2 बदमाशों ने दुष्कर्म किया और 2 बदमाशों ने उनके हाथ पकड़ रखे थे। इसी दौरान वहां से गुजर रहे चरवाहे ने उनकी चिल्लाने की आवाज सुन ली। चरवाहा उनकी मदद के लिए आने लगा तो उसे देख चारों बदमाश वहां से भाग छूटे। पुलिस का कहना था कि अगर चरवाहा नहीं आता तो उनके साथ बचे हुए दो बदमाश भी दुष्कर्म करते।

पुलिस अधीक्षक ने दिए करवाई के आदेश

बुधवार को इस मामले में पीड़िता और उसका परिवार पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा के सामने पेश हुआ। पीड़िता की पूरी बात सुनने के बाद में पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा ने बागोर थाना प्रभारी को इस मामले में स्पष्ट जांच कर कार्रवाई करने के आदेश दिए।

खबरें और भी हैं...