पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

खनिज भंडार:आयरनओर के सर्वे और सैंड स्टाेन खनन के लिए खनिज विभाग ने वन विभाग से मांगी एनओसी

भीलवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • धूलखेड़ा में 50 हैक्टेयर भूमि, नया नगर में सैंड स्टाेन के 22 प्लाॅट प्रस्तावित
  • दाेनाें जगह आयरनओर और सैंड स्टाेन के अच्छे भंडार हैं

खनिज विभाग की भूगर्भ शाखा ने जिले में एक जगह वन भूमि में आयरन ओर के सर्वे और एक जगह सैंड स्टाेन के खनन के लिए वन विभाग से एनओसी मांगी है। दाेनाें जगह आयरन ओर और सैंड स्टाेन के अच्छे भंडार हैं। इसके लिए खनिज विभाग ने दाे प्रस्ताव निदेशाालय भेजे हैं।

पहले प्रस्ताव के अनुसार खनिज विभाग की भू गर्भ शाखा ने धूल खेड़ा स्थित वन विभाग की 50 हैक्टेयर जमीन में आयरन ओर के सर्वे के लिए एनओसी मांगी है। वन विभाग की 50 हैक्टेयर जमीन के अटैच में ही खनिज विभाग की 76.05 बीघा जमीन है।

विभाग ने जमीन में सर्वे करने के लिए वन विभाग काे लिखा है पत्र

खनिज विभाग की जमीन में प्रारंभिक अनुमान के अनुसार 19.75 मिलियन टन आयरनओर के भंडार है। खनिज विभाग काे अपनी जमीन के अटैच वाली वन विभाग की 50 हैक्टेयर जमीन में भी आयरन ओर का अच्छा डिपाेजिट हाेने की संभावना है। इसलिए इस जमीन में सर्वे के लिए वन विभाग काे पत्र लिखकर एनओसी मांगी है ताकि दाेनाें जमीन में एक साथ सर्वे हाे सके और एक ही जगह पर आयरन ओर का अच्छा भंडार मिल सके।

दूसरे प्रस्ताव के अनुसार जिले के बिजाैलिया क्षेत्र स्थित नया नगर में भी वन विभाग की जमीन में खनिज विभाग ने सैंड स्टाेन के 22 प्लाॅट बनाकर नीलामी में रखने के लिए निदेशालय काे प्रस्ताव भेजा है। निदेशालय स्तर से वन विभाग से एनओसी लेने की प्रक्रिया अपनाई जाएगी। खनिज विभाग की ओर से प्रस्तावित किए गए सैंड स्टाेन के 22 प्लाॅट में वन विभाग की 73.25 हैक्टेयर जमीन आ रही है।

खनिज विभाग के अनुसार बिजाैलिया क्षेत्र में सैंड स्टाेन की सबसे अच्छी क्वालिटी नया नगर में है। जहां पर पहले से काफी क्वारी लाइसेंस और लीज हैं। इनके नजदीक ही वन विभाग की 73.25 हैक्टेयर जमीन है। खनिज विभाग की ओर से भेजे गए प्रस्ताव काे वन विभाग की एनओसी मिलने पर 22 प्लाॅट काे नीलामी के जरिए आबंटित किए जाएंगे।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय पूर्णतः आपके पक्ष में है। वर्तमान में की गई मेहनत का पूरा फल मिलेगा। साथ ही आप अपने अंदर अद्भुत आत्मविश्वास और आत्म बल महसूस करेंगे। शांति की चाह में किसी धार्मिक स्थल में भी समय व्यतीत ह...

और पढ़ें