पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अब केयर नहीं क्रिटिकल:आधुनिक तकनीक के आईसीयू-एनआईसीयू, एक बेड डेढ़ लाख का, रिमोट से चलेगा

भीलवाड़ा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आईसीयू। - Dainik Bhaskar
आईसीयू।
  • एमजी अस्पताल में 20 बेड का नया आईसीयू और 10 का एनआईसीयू इसी महीने शुरू होगा, अहमदाबाद जैसी सुविधाएं मिलेंगी

एमजी अस्पताल में एनीस्थिसिया एक्सपर्ट विभागाध्यक्ष डाॅ. वीरेंद्र शर्मा ने बताया कि महात्मा गांधी अस्पताल में स्वास्थ्य की दृष्टि से दो नवाचार होने जा रहे हैं। पहला बीस बेड का मॉर्डन आईसीयू और दूसरा बच्चों के लिए 10 बेड का एनआईसीयू। कोरोना की संभावित तीसरी लहर की आशंका व गंभीर मरीजाें काे समय पर बेड मिले इसकाे देखते हुए आईसीयू तैयार किया जा रहा है। इसकी लागत 3.45 कराेड़ रुपए हैं। 90% कार्य पूरा हाे चुका है। अभी आईसीयू के 12 बेड है। इसके साथ ही सीसीयू में भी 8 बेड हैं । 20 नए बेड शुरू करने पर आईसीयू में 40 बेड हो जाएंगे। एमजीएच के अधीक्षक डाॅ. अरूण गाैड़ के नेतृत्व में आईसीयू केयर टीम में फिजिशियन, चेस्ट फिजिशियन व एनेस्थियां डाॅक्टर्स होंगे और एनआईसीयू टीम में शिशु राेग विशेषज्ञ, चेस्ट फिजिशियन व एनेस्थिसिया डाॅक्टर्स होेंगे।

भास्कर EXPLAINER स्टॉफ रूम में मॉनिटर पर हर मरीज का हैल्थ अपडेट दिखेगा
नए आईसीयू में बेड्स में एडवांस टैक्नाेलाॅजी का वेंटीलेटर, मल्टीपैरा माॅनिटरिंग, हाईफ्लाे ऑक्सीजन, ईसीजी, एक्स-रे, डाॅयलिसिस की सुविधा भी उपलब्ध रहेगी। एक बेड की ही लागत डेढ़ लाख के करीब है। यह बेड पूरी तरह से माेटर राइज विद रिमाेट कंट्राेंल पर है। 20 बेड में से 10 पर वेंटिलेटर व 10 पर बाई पेप सुविधा रहेगी। बेड के पीछे मेडिकल पाइपलाइन गैस सिस्टम (एमपीसीएस पैनल) लगाया गया है। जिसमें दाे ऑक्सीजन पाेर्ट, एक एयर व एक में सक्श्न की सुविधा रहेगी। कार्डियक टेबल लगाई जाएगी।

इसमें मल्टीपेरा माॅनिटर हाेगा जाे गंभीर मरीज का बीपी, पल्स, ईसीजी, ईटीसीओ2, इनवैज्यू बीपी(रियल टाइम बीवी) की माॅनिटरिंग करेगा। साथ ही सेंटर माॅनिटिरिंग सिस्टम (सीएमएस) रहेगा जिसकी जानकारी नर्सिंग स्टेशन पर दिखती रहेगी। अत्याधुनिक मशीनाें में वीडियाे लैरिंगोस्कोप आएगा। वीडियाे लैरिंगोस्कोप में गंभीर मरीज काे वेंटीलेटर पर लेने से पहले सांस की नली डालनी पड़ती है उसके लिए एडंवास मशीन है। जिसमें नली डालने की प्रक्रिया माॅनिटर पर नजर आएगी। आर्टिरियल ब्लड गैस एनालइजर (एबीजी) जाे मरीज की ऑक्सीजन व कार्बनडाईऑक्साइड की मात्रा बताते हैं वाे भी लगाई जाएगी। नए आईसीयू में डायलिसिस के दाे बेड रिजर्व रखे गए हैं। साथ ही यहां पर डिजिटल एक्स-रे और मिनी लैब भी हाेगी जिसमें सैंपल लिए जाएंगे। कुछ सैंपल की जांच करने की सुविधा भी यहीं पर रहेगी। यह सुविधा हाेने से गंभीर मरीजाें काे अन्य स्थान जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

एनआईसीयू।
एनआईसीयू।

10 बेड बढ़ने से अब एनआईसीयू में 38 हाे गए...
एमजी अस्पताल के महिला एवं बाल चिकित्सालय में भी 10 एनआईसीयू बेड बनाए जा रहे है। इसमें भी अत्याधुनिक मशीने लगाई जा रही हैं। यह पहले बने एनआईसीयू के पास ही है। अभी यहां पर 28 बेड हैं। एमसीएच यूनिट की एचओडी डाॅ. इंद्रा सिंह ने बताया कि दस बेड और बनने पर यहां 38 बेड हो जाएंगे। कई बार बच्चाें की संख्या अधिक हाेने के कारण से एक बेड पर दाे काे सुलाना पड़ता है। दस बेड का नया एनआईसीयू बनने पर इस तरह की समस्या नहीं आएगी।

खबरें और भी हैं...