मेडिकल कॉलेज में टैंक बनाना शुरू:मेडिकल काॅलेज में दान की देह के लिए बनाएंगे नए टैंक

भीलवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विजयाराजे सिंधिया मेडिकल काॅलेज में दान में मिलने वाली देह रखने के लिए बनाए टैंक के निर्माण में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के चीफ इंजीनियर ने खामी रहना पाया है। विभाग के प्रमुख शासन सचिव वैभव गालरिया के निर्देश पर जयपुर से आई टीम ने एनाटाॅमी डिपार्टमेंट का निरीक्षण किया।

इसमें डेडबाॅडी रखने के लिए प्लास्टिक की टंकियाें का उपयाेग गलत माना। उन्हाेंने इन्हें ताेड़कर नए बनाने का निर्देश दिया। गाैरतलब है कि टैंक में लीकेज हाेने से केमिकल बाहर बहने लग गया था। इससे शव सुरक्षित नहीं रह पाता था।

इस लापरवाही काे छिपाने के लिए काॅलेज प्रबंधन ने डेढ़ लाख रुपए में प्लास्टिक की दाे टंकियां खरीदी और उनमें 11 देह ठूंस रखी थी। ‘दैनिक भास्कर’ ने 25 सितंबर काे खबर ‘मेडिकल काॅलेज; घटिया निर्माण से टैंक से लीक होने लगा केमिकल तो प्लास्टिक टंकियों में ठूंसी 11 देह’ शीर्षक खबर प्रकाशित की थी। इसके बाद कलेक्टर शिवप्रसाद एम नकाते व विभाग के प्रमुख शासन सचिव गालरिया ने तथ्यात्मक रिपाेर्ट मांगी थी।

3 साल से दबा रखा था मामला मेडिकल काॅलेज का निर्माण वर्ष 2017 में हुआ था। इसमें टैंक का गलत निर्माण हुआ लेकिन इसे प्रशासन ने दबाए रखा। देह रखने की समस्या आई ताे प्लास्टिक की टंकियां खरीद ली। इस मामले का भास्कर ने खुलासा किया।

खबरें और भी हैं...